अंशु प्रकाश पिटाई केसः AAP ने कोर्ट में कहा- मीडिया ट्रायल का प्रयास कर रही दिल्ली पुलिस

दिल्ली के मुख्य सचिव अंशु प्रकाश के साथ मारपीट के मामले में दाखिल चार्जशीट को मीडिया के साथ साझा करने के आरोपों पर पटियाला हाउस कोर्ट में दिल्ली पुलिस ने शनिवार को अपनी बात रखी। दिल्ली पुलिस ने कोर्ट के नोटिस के जवाब में कहा कि आम आदमी पार्टी (AAP) नेता दिल्ली पुलिस पर अपमानजनक टिप्पणी कर रहे हैं। वे हमारी छवि को बदनाम कर रहे हैं और अदालत की कार्यवाही को प्रभावित करने की भी कोशिश कर रहे हैं। दिल्ली के मुख्य सचिव अंशु प्रकाश के साथ मारपीट के मामले में दाखिल चार्जशीट को मीडिया के साथ साझा करने के आरोपों पर पटियाला हाउस कोर्ट में दिल्ली पुलिस ने शनिवार को अपनी बात रखी। दिल्ली पुलिस ने कोर्ट के नोटिस के जवाब में कहा कि आम आदमी पार्टी (AAP) नेता दिल्ली पुलिस पर अपमानजनक टिप्पणी कर रहे हैं। वे हमारी छवि को बदनाम कर रहे हैं और अदालत की कार्यवाही को प्रभावित करने की भी कोशिश कर रहे हैं।    वहीं, AAP विधायकों के वकील ने कहा कि यह कोई साधारण मामला नहीं है। इस केस में मुख्य सचिव अंशुप्रकाश याचिकाकर्ता हैं तो आरोपी सीएम हैं। दिल्ली पुलिस पूरे मामले का मीडिया ट्रायल करने का प्रयास कर रहा है। दिल्ली पुलिस का पक्ष सुनने के बाद कोर्ट ने फैसला सुरक्षित रख लिया है और दोपहर दो बजे के बाद फिर सुनवाई होगी।   यहां पर बता दें कि AAP ने पटियाला हाउस कोर्ट में दाखिल की गई अर्जी में कोर्ट से गुहार लगाई गई थी कि हाल ही में मुख्य सचिव अंशु प्रकाश के साथ मारपीट के मामले में चार्जशीट दाखिल की गई है, उससे जुड़ी जानकारियां पुलिसकर्मी मीडिया से साझा नहीं करें और साथ ही चार्जशीट दाखिल होने से पहले जिन अधिकारियों ने मीडिया के साथ चार्जशीट से जुड़ी जानकारी लीक की, उनके खिलाफ जांच कराई जाए।    अंशु प्रकाश पिटाई मामले में कोर्ट में चार्जशीट दाखिल, केजरीवाल-सिसोदिया भी आरोपी यह भी पढ़ें इस मामले में आरोपी विधायकों की तरफ से कोर्ट को बताया गया कि दिल्ली पुलिस मीडिया में गलत जानकारी शेयर कर रही है, जिससे उन्हें रोका जाए।  आम आदमी पार्टी के नेताओं की तरफ से आरोप लगाते हुए पटियाला हाउस कोर्ट में दी गी अर्जी में कहा है कि मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल और उनके विधायकों की छवि को खराब करने के लिए दिल्ली पुलिस के अधिकारी ऐसा कर रहे हैं।    मुख्य सचिव पिटाई केसः केजरीवाल के घर 40 मिनट क्यों पीछे थी CCTV कैमरे की टाइमिंग यह भी पढ़ें AAP विधायकों का आरोप है कि चार्जशीट फाइल करने से पहले ही मामले से जुड़े दो डीसीपी ने मीडिया पत्रकारों के साथ वॉट्सएप ग्रुप पर यह खबर शेयर कर दी थी। इसके अलावा जो खबर पुलिस अधिकारियों द्वारा दी गई वह भी भ्रामक और गलत थी।  यहां पर बता दें कि 19 फरवरी को हुई पिटाई मामले में दिल्ली पुलिस ने मुख्य सचिव अंशु प्रकाश के साथ मारपीट के मामले में सोमवार को चार्जशीट दाखिल की है। चार्जशीट में मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल और उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया को आरोपी बनाया गया है। इनके अलावा 11 विधायकों को भी मारपीट करने का आरोपी बनाया गया है। कुल 13 लोगों के खिलाफ चार्जशीट दाखिल की गई।

वहीं, AAP विधायकों के वकील ने कहा कि यह कोई साधारण मामला नहीं है। इस केस में मुख्य सचिव अंशुप्रकाश याचिकाकर्ता हैं तो आरोपी सीएम हैं। दिल्ली पुलिस पूरे मामले का मीडिया ट्रायल करने का प्रयास कर रहा है। दिल्ली पुलिस का पक्ष सुनने के बाद कोर्ट ने फैसला सुरक्षित रख लिया है और दोपहर दो बजे के बाद फिर सुनवाई होगी। 

यहां पर बता दें कि AAP ने पटियाला हाउस कोर्ट में दाखिल की गई अर्जी में कोर्ट से गुहार लगाई गई थी कि हाल ही में मुख्य सचिव अंशु प्रकाश के साथ मारपीट के मामले में चार्जशीट दाखिल की गई है, उससे जुड़ी जानकारियां पुलिसकर्मी मीडिया से साझा नहीं करें और साथ ही चार्जशीट दाखिल होने से पहले जिन अधिकारियों ने मीडिया के साथ चार्जशीट से जुड़ी जानकारी लीक की, उनके खिलाफ जांच कराई जाए। 

इस मामले में आरोपी विधायकों की तरफ से कोर्ट को बताया गया कि दिल्ली पुलिस मीडिया में गलत जानकारी शेयर कर रही है, जिससे उन्हें रोका जाए।

आम आदमी पार्टी के नेताओं की तरफ से आरोप लगाते हुए पटियाला हाउस कोर्ट में दी गी अर्जी में कहा है कि मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल और उनके विधायकों की छवि को खराब करने के लिए दिल्ली पुलिस के अधिकारी ऐसा कर रहे हैं। 

AAP विधायकों का आरोप है कि चार्जशीट फाइल करने से पहले ही मामले से जुड़े दो डीसीपी ने मीडिया पत्रकारों के साथ वॉट्सएप ग्रुप पर यह खबर शेयर कर दी थी। इसके अलावा जो खबर पुलिस अधिकारियों द्वारा दी गई वह भी भ्रामक और गलत थी।

यहां पर बता दें कि 19 फरवरी को हुई पिटाई मामले में दिल्ली पुलिस ने मुख्य सचिव अंशु प्रकाश के साथ मारपीट के मामले में सोमवार को चार्जशीट दाखिल की है। चार्जशीट में मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल और उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया को आरोपी बनाया गया है। इनके अलावा 11 विधायकों को भी मारपीट करने का आरोपी बनाया गया है। कुल 13 लोगों के खिलाफ चार्जशीट दाखिल की गई।

You May Also Like

English News