अखिलेश ने आशाराम-दयाराम’ में उलझाया योगी को

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सोमवार को प्रतापगढ़ में दलित के घर भोजन किया था. इस मामले में सूबे के पूर्व सीएम अखिलेश यादव ने एक अखबार की खबर का हवाला देते हुए ट्वीट किया अखिलेश यादव ने सीएम योगी के कार्यक्रम के दौरान अधिकारियों की ओर से किए गए कार्यक्रम में बदलाव का जिक्र करते हुए ट्वीट किया. उन्होंने लिखा, ‘मुख्यमंत्री जी को पट्टी पढ़ा दी गयी और आशाराम के घर को बना दिया गया दयाराम का घर. अब तक ‘आयाराम-गयाराम’ ही चलता था, अब इस सरकार के दौर में ‘आशाराम-दयाराम’ का नया चलन शुरू हुआ है.लखनऊ : मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सोमवार को प्रतापगढ़ में दलित के घर भोजन किया था. इस मामले में सूबे के पूर्व सीएम अखिलेश यादव ने एक अखबार की खबर का हवाला देते हुए ट्वीट किया अखिलेश यादव ने सीएम योगी के कार्यक्रम के दौरान अधिकारियों की ओर से किए गए कार्यक्रम में बदलाव का जिक्र करते हुए ट्वीट किया. उन्होंने लिखा, 'मुख्यमंत्री जी को पट्टी पढ़ा दी गयी और आशाराम के घर को बना दिया गया दयाराम का घर. अब तक ‘आयाराम-गयाराम’ ही चलता था, अब इस सरकार के दौर में ‘आशाराम-दयाराम’ का नया चलन शुरू हुआ है.'  दरअसल एक अखबार में छपी खबर के मुताबिक सीएम योगी ने जिसके घर भोजन किया था उनका नाम दयाराम सरोज बताया गया जबकि वह घर दयाराम के भाई लेखपाल आशाराम का था. तय कार्यक्रम के मुताबिक सीएम योगी को आशाराम के घर ही भोजन करना था लेकिन ग्रामीणों ने उनके सरकारी कर्मचारी होने से इसका विरोध किया था.     अधिकारियों ने ग्रामीणों के विरोध के चलते दयाराम सरोज के घर ही सीएम को भोजन कराने की योजना बनाई लेकिन भोजन लेखपाल आशाराम के घर पर ही कराया गया. सीएम के लिए सभी इंतजाम करने का जिम्मा दयाराम को सौंपा गया और उनके परिवार को वहीं बुला लिया गया.

दरअसल एक अखबार में छपी खबर के मुताबिक सीएम योगी ने जिसके घर भोजन किया था उनका नाम दयाराम सरोज बताया गया जबकि वह घर दयाराम के भाई लेखपाल आशाराम का था. तय कार्यक्रम के मुताबिक सीएम योगी को आशाराम के घर ही भोजन करना था लेकिन ग्रामीणों ने उनके सरकारी कर्मचारी होने से इसका विरोध किया था.

अधिकारियों ने ग्रामीणों के विरोध के चलते दयाराम सरोज के घर ही सीएम को भोजन कराने की योजना बनाई लेकिन भोजन लेखपाल आशाराम के घर पर ही कराया गया. सीएम के लिए सभी इंतजाम करने का जिम्मा दयाराम को सौंपा गया और उनके परिवार को वहीं बुला लिया गया.

You May Also Like

English News