अगर आप भी लस्सी के है शौकीन तो इन टिप्स से बनाइए उसे और भी स्वादिष्ट…

जयपुर: लस्सी वैसे एक पारंपरिक पंजाबी पेय (ड्रिंक) है। इस प्रसिद्ध, क्रीमी, मीठे दही के पेय को अक्सर पंजाबी लोग अपने दैनिक आहार में शामिल करते है।इसका ज्यादातर सेवन भारत के उत्तर में पंजाब, राजस्थान, उत्तर प्रदेश और दिल्ली में किया जाता है और वहां मिट्टी के मटके में लस्सी बनाकर बेचीं भी जाती है। लस्सी के भी तीन प्रकार होते है – नमक वाली, मीठी और मसाला लस्सी। यहाँ लस्सी बनाते समय ताज़े और गाढे दही का उपयोग किया जाता है, जिसे ठंडा करने के बाद हांथो से फेटा जाता है। भारत के उत्तरी भाग में लस्सी का सेवन अल्पाहार के रूप में भी किया जाता है।अगर आप भी लस्सी के है शौकीन तो इन टिप्स से बनाइए उसे और भी स्वादिष्ट...वीकेंड पर लें रेस्ट्रोंरेट जैसे पनीर 65 क्यूसाडिला का मजा…

दही में बहुत सारे न्यूट्रीशन होते है जैसे प्रोटीन, कैल्शियम, मैग्नीशियम, बिटामिन B-6 और विटामिन बी-12। ये सारे न्यूट्रीशन हमारे शरीर के लिये बहुत फायदेमंद होते है। दही खाना पचाने में भी सहायक होता है और साथ ही यह दाँतो और हड्डियों को भिऊ मजबूत बनाता है। दही का आप सीधे सेवन भी कर सकते है या फिर इसकी लस्सी बनाकर भी पी सकते है। आप लस्सी को दही शेक भी कह सकते हो। भारत में अलग-अलग भागो में अलग-अलग तरह की लस्सी बनायी जाती है।

कुछ टिप्स से आप लस्सी को और भी स्पाइसी बना सकती है…

शानदार लस्सी बनाने के लिए अच्छे दही का चुनाव बहुत मायने रखता है। लस्सी बनाने से पहले दही में से अतिरिक्त पानी पूरी तरह से निकाल दें।
हमेशा ताजे दही से लस्सी बनाएं। अगर दही खट्टा है तो उसके खट्टेपन को कम करने के लिए उसमें थोड़ा-सा दूध मिला दें।
मीठी लस्सी बना रही हैं तो उसमें आप तरह-तरह के प्रयोग कर सकती हैं। मैंगो लस्सी के अलावा आप केला, पपीता या फिर चॉकलेट वाली लस्सी भी बना सकती हैं।
नमकीन लस्सी बना रही हैं तो उसमें जीरा पाउडर, काला नमक, चाट मसाला, गरम मसाला, केसर, पुदीना और यहां तक कि तुलसी का पत्ता भी डाल सकती हैं।
पारंपरिक पंजाबी लस्सी बना रही हैं तो उसमें 1/4 चम्मच गुलाब जल डालना न भूलें। पंजाबी लस्सी की यह खासियत होती है।
लस्सी को ज्यादा क्रीमी बनाने के लिए उसमें एक चम्मच क्रीम मिलाएं और पानी की जगह दूध का इस्तेमाल करें। लस्सी का फ्लेवर बेहतर बनाने के लिए केसर भी मिला सकती हैं।

You May Also Like

English News