अगर आप स्टूडेंट हैं तो भूल से भी ना बंद करें खिड़की-दरवाजे, नहीं तो….

जरनल इनडोर एयर में प्रकाशित एक अध्ययन के अनुसार, जिनको रात में अच्छी नींद लेने में परेशानी आती है, यदि वे अपने बेडरूम की खिड़की या दरवाजे को खुला रखते हैं, तो उन्हें अच्छी नींद लेने में बहुत मदद मिलती है। दरअसल, दरवाजे या खिड़की खुली रखने से बाहर की ताजी हवा बेडरूम में प्रवाहित होती है, इससे आपको अच्छी नींद आती है। अगर आप स्टूडेंट हैं तो भूल से भी ना बंद करें खिड़की-दरवाजे, नहीं तो....
अध्ययनकर्ताओं का मानना है कि खराब वेंटिलेशन से बेडरूम में कार्बन डाई-ऑक्साइड का स्तर बढ़ जाता है, इससे सांस लेने में परेशानी होती है और इससे नींद प्रभावित होती है। अध्ययनकर्ताओं ने 17 स्वस्‍थ्‍ा छात्रों की नींद का अध्ययन किया। इस दौरान छात्र दरवाजे या खिड़की को खुला या बंद करके सोते थे, उनके कमरों के तापमान की जांच की गई।
 
अध्ययनकर्ताओं ने पाया कि कमरे के दरवाजे या खिड़की के बंद होने से वहां कार्बन डाई-ऑक्साइड का स्तर ज्यादा था, वहीं दरवाजे या खिड़की के खुले होने के कारण उसका स्तर कम था।
इससे पहले कोपेनहेगन स्कूल ऑफ डिजाइन एंड टेक्नोलॉजी ने भी अपने अध्ययन में यह पाया था कि जब कमरे में कार्बन डाई-ऑक्साइड की मात्रा कम होती है, तब उसमें ताजी हवा के स्तर में सुधार होता है और इससे नींद अच्छी आती है। अध्ययन से स्पष्ट है कि रात में सोते समय बेडरूम में पर्याप्त हवा की आवाजाही भी जरूरी है।

You May Also Like

English News