अगर नहीं हुआ चमत्कार तो कोई नहीं बचा सकता भारत के हाथों इंग्लैंड की हार

नॉटिंघम के ट्रेंट ब्रिज में खेले जा रहे तीसरे टेस्ट मैच में इंग्लैंड के खिलाफ अपनी पकड़ बेहद मजबूत कर ली है. भारत ने मैच के तीसरे दिन सोमवार को अपनी दूसरी पारी 352/7 रनों पर घोषित कर इंग्लैंड के सामने 521 रनों का विशाल लक्ष्य रखा है. मेजबान टीम ने दिन का खेल खत्म होने तक बिना कोई विकेट खोए 23 रन बना लिये हैं.अगर नहीं हुआ चमत्कार तो कोई नहीं बचा सकता भारत के हाथों इंग्लैंड की हार

मौजूदा टेस्ट सीरीज में 2-0 से पिछड़ रही भारतीय टीम के लिए ट्रेंट ब्रिज में वापसी करने का बहतरीन मौका है. विराट ब्रिगेड के पास पूरे दो दिन बचे हैं और भारतीय गेंदबाज इंग्लैंड की दूसरी पारी समेटने में कोई कसर नहीं छोड़ेंगे.

इंग्लैंड में 521 रनों के ‘जादुई आंकड़े’ तक नहीं पहुंच पाई है कोई टीम-

आंकड़े भी टीम इंडिया के साथ हैं. इंग्लैंड के सामने 521 रनों का टारगेट है. इंग्लैंड की धरती पर इतने बड़े लक्ष्य तक कोई भी टीम नहीं पहुंच पाई है.

टेंट ब्रिज में क्या है रिकॉर्ड-

किसी भी फर्स्ट क्लास क्रिकेट की बात करें, तो टेंट ब्रिज में मिडिलसेक्स ने जून 1925 में सफलतापूर्वक लक्ष्य का पीछा करते हुए मेजबान टीम नॉटिंघमशायर के खिलाफ 140.5 ओवरों में 502/6 रन बनाकर मैच जीता था.

टेस्ट मैच में इंग्लैंड ने टेंट ब्रिज में चौथी पारी में न्यूजीलैंड के खिलाफ 2004 में 284/6 रन बनाकर लक्ष्य का सफलतापूर्व पीछा किया था.

पूरे इंग्लैंड में क्या है रिकॉर्ड-

फर्स्ट क्लास क्रिकेट में इंग्लैंड के किसी भी ग्राउंड पर सफलतापूर्वक लक्ष्य हासिल करने के रिकॉर्ड की बात करें. तो इंग्लिश टीम के सामने 521 रनों का पहाड़-सा टारगेट है. जून 1896 में लॉर्ड्स के मैदान पर कैम्ब्रिज यूनिवर्सिटी ने एमसीसी के खिलाफ 507/7 (189.2 ओवर) रन बनाकर मैच जीता था.

केवल टेस्ट मैच की बात करें, तो इंग्लैंड में 350+ का टारगेट एक ही बार हासिल हुआ है, जब ऑस्ट्रेलिया ने लीड्स में जुलाई 1948 में 404/3 रन बनाकर मैच जीता था.

English News

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com