“अगर मैं मर्द होती, तो मै दुनिया की सबसे महान खिलाड़ी मानी जाती”

टेनिस की दुनिया में सेरेना विलियम्स बड़ा नाम मानी जाती हैं। मगर साल 2016 उनके लिए वैसा नहीं रहा, जैसा उन्होंने उम्मीद की होगी। इस साल वो 3 ग्रैंड स्लैम फाइनल में पहुंची, मगर जीत सिर्फ एक ही में मिली।

“अगर मैं मर्द होती, तो मै दुनिया की सबसे महान खिलाड़ी मानी जाती”

खूबसूरत वादियों में विराट-अनुष्का एक साथ

इसके अलावा सेरेना विलियम्स ने 187 हफ्तों के बाद अपनी पहली रैंक का ताज भी गंवाया। 35 साल की सेरेना ने लंबे समय तक कोर्ट में अपना बादशाहत बनाए रखी। अपने करियर के अंतिम पड़ाव पर पहुंच चुकी सेरेना ने खुद को लेकर बड़ा बयान दिया है।

सेरेना का मानना है कि वो यदि वो एक पुरुष खिलाड़ी होतीं, तो उन्हें सबसे महान खिलाड़ी माना जाता। सेरेना ने दो टूक शब्दों नें कहा, “मुझे लगता है कि एक महिला होने कारण आपको समाज में अलग तरह की दिक्कतों का सामना करना पड़ता है। यदि आप अश्वेत हैं, तो दिक्कतें बढ़ जाती हैं।”

उन्होंने कहा, “इस दुनिया में औरतों के अधिकार खो जाते हैं। यदि मैं एक पुरुष खिलाड़ी होती, तो यकीनन में सर्वकालिक महानतम खिलाड़ी मानी जाती। एफ्रो-अमेरिकन होने के कारण आपको खेलों की दुनिया में काफी दिक्कतें आती हैं।”

मलाइका ने अरबाज से मांगे 15 करोड़ रुपये, खान परिवार हुआ परेशान

सेरेना ने कहा कि हर हालात में आपको मुस्कुराना पड़ता है। अंदर आप चाहे घुट रहें हों, मगर फिर भी आपको हंसान पड़ता है। सेरेना ने माना कि वो अपने शरीर को लेकर नाखुश थीं, मगर अब वो आत्मविश्वास से लबरेज हैं।

सेरेना ने माना कि उनका जिंदगी में उन्होंने काफी कुछ हासिल किया है। यही वजह है कि वो जिंदगी में काफी आगे तक पहुंची हैं। हालांकि उन्हें कुछ दिक्कतों का सामना करना पड़ा मगर वो अपने करियर को लेकर संतुष्ट हैं।
 

 

You May Also Like

English News