अगले चार टी-20 मैचों में विपक्षी टीम को चौंकाने उतरेंगे कोहली

भारतीय क्रिकेट टीम के कप्तान विराट कोहली आयरलैंड के खिलाफ अगले टी- 20 मैच और इसके बाद इंग्लैंड के साथ होने वाली तीन मैचों की सीराज में अपने मध्यक्रम के साथ प्रयोग कर ‘विपक्षी टीम को चौंकाना’ चाहते हैं.कोहली ने मैच के बाद प्रजेंटेशन में कहा, ‘हम पहले ही घोषणा कर चुके हैं कि सलामी जोड़ी के अलावा हम मध्य क्रम में काफी प्रयोग करेंगे. हम अगले कुछ टी- 20 मैचों में लचीलापन अपनाएंगे. हम जरूरत के हिसाब से बल्लेबाजी क्रम तय करेंगे और विपक्षी टीम को चौंकाने की कोशिश करेंगे.’  उन्होंने कहा, ‘ इससे उन बल्लेबाजों को मौका मिलता है, जिन्हें आमतौर पर बल्लेबाजी का मौका नहीं मिलता. जिन बल्लेबाजों को पहले टी-20 में मौका नहीं मिला, उन्हें अगले मैच में मौका मिलेगा. हमारे खिलाड़ियों ने आईपीएल में अच्छा प्रदर्शन किया था और उन्हें यहां मध्यक्रम में मौका देने की जरूरत है.’  आयरलैंड के कप्तान ने कहा कि उनके बल्लेबाजों को भारतीय स्पिनरों को बेहतर खेलने की कोशिश करनी होगी. उन्होंने कहा , ‘भारत एक विश्व स्तरीय टीम है और उनके शीर्ष के खिलाड़ियों ने शानदार खेल दिखाया. मुझे अच्छे विकेट की उम्मीद थी, मैंने विकेट पर उस तरह का स्पिन मिलने की उम्मीद नहीं की थी, जैसा दूसरी पारी में हुआ। हम पावरप्ले में स्पिनरों से गेंद डलवा सकते थे.’

बुधवार को खेले गए पहले टी-20 मैच में कोहली बल्लेबाजी क्रम में छठे स्थान पर उतरे थे. भारत ने मुकाबला 76 रनों से जीता. सुरेश रैना तीसरे क्रम और महेंद्र सिंह धोनी चौथे क्रम पर उतरे.

इससे पहले शिखर धवन और रोहित शर्मा की सलामी बल्लेबाज जोड़ी ने 160 रन जोड़े थे. भारत ने पांच विकेट खोकर 208 रन बनाए थे और जवाब में आयरलैंड ने 20 ओवर में नौ विकेट खोकर 132 रन बनाए.

कोहली ने मैच के बाद प्रजेंटेशन में कहा, ‘हम पहले ही घोषणा कर चुके हैं कि सलामी जोड़ी के अलावा हम मध्य क्रम में काफी प्रयोग करेंगे. हम अगले कुछ टी- 20 मैचों में लचीलापन अपनाएंगे. हम जरूरत के हिसाब से बल्लेबाजी क्रम तय करेंगे और विपक्षी टीम को चौंकाने की कोशिश करेंगे.’

उन्होंने कहा, ‘ इससे उन बल्लेबाजों को मौका मिलता है, जिन्हें आमतौर पर बल्लेबाजी का मौका नहीं मिलता. जिन बल्लेबाजों को पहले टी-20 में मौका नहीं मिला, उन्हें अगले मैच में मौका मिलेगा. हमारे खिलाड़ियों ने आईपीएल में अच्छा प्रदर्शन किया था और उन्हें यहां मध्यक्रम में मौका देने की जरूरत है.’

आयरलैंड के कप्तान ने कहा कि उनके बल्लेबाजों को भारतीय स्पिनरों को बेहतर खेलने की कोशिश करनी होगी. उन्होंने कहा , ‘भारत एक विश्व स्तरीय टीम है और उनके शीर्ष के खिलाड़ियों ने शानदार खेल दिखाया. मुझे अच्छे विकेट की उम्मीद थी, मैंने विकेट पर उस तरह का स्पिन मिलने की उम्मीद नहीं की थी, जैसा दूसरी पारी में हुआ। हम पावरप्ले में स्पिनरों से गेंद डलवा सकते थे.’

You May Also Like

English News