अजहरुद्दीन के बेटे असदुद्दीन को गोवा क्रिकेट टीम में मिली जगह

पूर्व कप्तान मोहम्मद अजहरुद्दीन बेटे असदुद्दीन का गोवा की रणजी टीम में चयन हुआ है. उन्होंने बिना किसी फीस के गोवा टीम का सलाहकार बनने की पेशकश की है. गोवा क्रिकेट संघ (जीसीए) के अधिकारी ने यह जानकारी दी.पूर्व कप्तान मोहम्मद अजहरुद्दीन बेटे असदुद्दीन का गोवा की रणजी टीम में चयन हुआ है. उन्होंने बिना किसी फीस के गोवा टीम का सलाहकार बनने की पेशकश की है. गोवा क्रिकेट संघ (जीसीए) के अधिकारी ने यह जानकारी दी.  उधर, गोवा के लिए अब तक सबसे ज्यादा विकेट लेने वाले बाएं हाथ के स्पिन गेंदबाज शादाब जकाती ने हालांकि असदुद्दीन के टीम में आने पर नाराजगी जताई है. असदुद्दीन ने एक भी रणजी ट्रॉफी मैच नहीं खेला है और ऐसे में उनका चयन जीसीए को बैकफुट पर धकेल रहा है.  जीसीए के सचिव दया ने आईएएनएस से कहा, 'असदुद्दीन उनके बेटे हैं और वह अब टीम का हिस्सा हैं, तो अजहरुद्दीन मुफ्त में टीम के सलाहकार होंगे. भारत के पूर्व कप्तान की सलाह मिलना टीम के लिए काफी फायदेमंद हो सकता है.'  उन्होंने हालांकि कहा कि अजहर और संघ के बीच कोई लिखित करार नहीं हुआ है. सचिव ने कहा, 'असदुद्दीन गेस्ट प्लेयर की तरह टीम में जुड़ रहे हैं. हमने उन्हें एक भी पैसा नहीं दिया है. हम पैसों की तंगी से गुजर रहे हैं और इसलिए हमने यह रास्ता चुना.'  इससे पहले जकाती ने असदुद्दीन को टीम में शामिल करने के जीसीए के फैसले की आलोचना की है. जकाती ने संवाददाता सम्मेलन में कहा, 'इसलिए क्योंकि वह भारतीय टीम के पूर्व कप्तान के बेटे हैं, जो एक महान खिलाड़ी थे. क्या यह उन्हें गोवा की टीम में जगह दिला सकता है.'  उन्होंने कहा, 'असदुद्दीन की उम्र 28 साल की है और उन्होंने अब तक एक भी रणजी ट्रॉफी या प्रथम श्रेणी मैच नहीं खेला. वह अपने राज्य के लिए आखिरी मैच 2009 में खेले वो भी एक आमंत्रण टूर्नामेंट में. उन्होंने उत्तर प्रदेश से खेलने की कोशिश की, उन्होंने कई और राज्यों से खेलने की कोशिश की लेकिन मौका नहीं मिला.'  बाएं हाथ के स्पिनर ने कहा, 'यह गोवा है आप आओ आपका स्वागत है. गोवा के खिलाड़ियों का क्या? हम भी संघर्ष कर रहे हैं. हम भी काफी मेहनत कर रहे हैं. हम भी गोवा के लिए खेलना चाहते हैं.

उधर, गोवा के लिए अब तक सबसे ज्यादा विकेट लेने वाले बाएं हाथ के स्पिन गेंदबाज शादाब जकाती ने हालांकि असदुद्दीन के टीम में आने पर नाराजगी जताई है. असदुद्दीन ने एक भी रणजी ट्रॉफी मैच नहीं खेला है और ऐसे में उनका चयन जीसीए को बैकफुट पर धकेल रहा है.

जीसीए के सचिव दया ने आईएएनएस से कहा, ‘असदुद्दीन उनके बेटे हैं और वह अब टीम का हिस्सा हैं, तो अजहरुद्दीन मुफ्त में टीम के सलाहकार होंगे. भारत के पूर्व कप्तान की सलाह मिलना टीम के लिए काफी फायदेमंद हो सकता है.’

उन्होंने हालांकि कहा कि अजहर और संघ के बीच कोई लिखित करार नहीं हुआ है. सचिव ने कहा, ‘असदुद्दीन गेस्ट प्लेयर की तरह टीम में जुड़ रहे हैं. हमने उन्हें एक भी पैसा नहीं दिया है. हम पैसों की तंगी से गुजर रहे हैं और इसलिए हमने यह रास्ता चुना.’

इससे पहले जकाती ने असदुद्दीन को टीम में शामिल करने के जीसीए के फैसले की आलोचना की है. जकाती ने संवाददाता सम्मेलन में कहा, ‘इसलिए क्योंकि वह भारतीय टीम के पूर्व कप्तान के बेटे हैं, जो एक महान खिलाड़ी थे. क्या यह उन्हें गोवा की टीम में जगह दिला सकता है.’

उन्होंने कहा, ‘असदुद्दीन की उम्र 28 साल की है और उन्होंने अब तक एक भी रणजी ट्रॉफी या प्रथम श्रेणी मैच नहीं खेला. वह अपने राज्य के लिए आखिरी मैच 2009 में खेले वो भी एक आमंत्रण टूर्नामेंट में. उन्होंने उत्तर प्रदेश से खेलने की कोशिश की, उन्होंने कई और राज्यों से खेलने की कोशिश की लेकिन मौका नहीं मिला.’

बाएं हाथ के स्पिनर ने कहा, ‘यह गोवा है आप आओ आपका स्वागत है. गोवा के खिलाड़ियों का क्या? हम भी संघर्ष कर रहे हैं. हम भी काफी मेहनत कर रहे हैं. हम भी गोवा के लिए खेलना चाहते हैं.

You May Also Like

English News