अदालत ने प्रद्युम्न के हत्यारोपी छात्र को तीन दिन की CBI रिमांड पर भेजा

प्रद्युमन हत्याकांड में बुधवार को नया मोड़ आ गया। सीबीआई ने स्कूल के 11वीं कक्षा के छात्र को गिरफ्तार किया है। गुरुग्राम पुलिस द्वारा जिस सीसीटीवी फुटेज को धुंधला होने की बात कहकर आरोपी छात्र को छोड़ दिया था, उसी फुटेज को सीबीआई ने हैदराबाद लैब से साफ करवाया जिसके बाद छात्र संदेह के घेरे में आया। गिरफ्तार किए जाने से पहले सीबीआई ने परिजनों को 4 बार पूछताछ के लिए बुलवाया। सीबीआई ने आरोपी को जुवेनाइल जस्टिस बोर्ड में पेश कर तीन दिन के रिमांड पर लिया है। सीबीआई उससे सुबह 10 बजे से शाम 6 बजे तक पूछताछ कर सकेगी।अदालत ने प्रद्युम्न के हत्यारोपी छात्र को तीन दिन की CBI रिमांड पर भेजा
‘ब्लू व्हेल’ गेम का आखिरी टास्क पूरा करने के लिए घर से भागी दो सहेलियां और फिर…

बता दें कि रायन स्कूल में 8 सितंबर को हुई हत्या के बाद गुरुग्राम पुलिस ने उसी दिन स्कूल बस के कंडक्टर अशोक को गिरफ्तार कर लिया था। इस मामले में लगातार सीबीआई जांच करवाए जाने की बात उठ रही थी। सरकार ने 22 सितंबर को यह मामला सीबीआई को सौंप दिया था। इसके बाद से सीबीआई गुरुग्राम के स्कूल में अनेक बार पहुंचकर मामले की जांच कर रही थी। इस मामले में सीबीआई ने सीसीटीवी फुटेज को कब्जे में लिया था। इसमें से एक फुटेज को गुरुग्राम पुलिस ने इसलिए छोड़ दिया था कि वह फुटेज बेहद धुंधली है।
 

इस फुटेज को सीबीआई ने अपनी जांच का आधार बनाया। इसे साफ करवाने के लिए हैदरबाद स्थित लैब में भेजा गया। फुटेज साफ होने के बाद इसमें 11वीं कक्षा का छात्र वारदात के वक्त दिखाई दिया जिसका माली हरपाल ने जिक्र किया था। इसी ने माली को प्रद्युमन की जानकारी दी थी। यहां से सीबीआई ने जांच शुरू की। जांच के दौरान छात्र को उसके पिता के साथ अनेक बार बुलवाया गया। इसमें पूछताछ के लिए 5 बार सीबीआई हेडक्वार्टर में बुलवाया गया। इसमें से एक बार उन्हें सीबीआई ने बिना पूछताछ के ही वापस भेज दिया।
 

सूत्रों की मानें तो 4 बार हुई पूछताछ के दौरान छात्र ने हर बार अपने बयान बदले। इस दौरान छात्र ने कुछ ऐसी बातें बोली जिसे सीबीआई ने आधार बनाया और उसे आरोपी मान लिया और उसे गिरफ्तार कर लिया। बुधवार को छात्र को जुवेनाइल जस्टिस बोर्ड में पेश किया गया जहां सीबीआई ने बोर्ड अध्यक्ष देवेन्द्र सिंह से 6 दिन का रिमांड मांगा। इसका आरोपी छात्र के अधिवक्ता संदीप अनेजा ने विरोध किया।
 

​दोनों पक्षों की बहस सुनने के बाद अदालत ने फैसला शाम 5 बजे तक के लिए सुरक्षित रख लिया। शाम 5 बजे दोनों पक्ष बोर्ड के समक्ष पेश हुए जहां बोर्ड ने तीन दिन के रिमांड को स्वीकृति प्रदान की है। सीबीआई को निर्देश दिए गए हैं कि वह छात्र से पूछताछ सुबह 10 बजे से 6 बजे के बीच करेगी। पूछताछ के दौरान एक महिला अधिकारी को नियुक्त किया गया है जिसकी मौजूदगी में पूछताछ होगी। पूछताछ के बाद छात्र को बाल सुधार गृह फरीदाबाद भेज दिया जाएगा। रिमांड खत्म होने के बाद आरोपी छात्र को दोबारा बोर्ड के समक्ष पेश किया जाएगा।
 

You May Also Like

English News