अनशन से पहले समर्थकों सहित हिरासत में लिए गए हार्दिक पटेल

पाटीदार आरक्षण व किसानों की कर्जमाफी की मांग को लेकर रविवार को उपवास करने से पहले ही अहमदाबाद क्राइम ब्रांच ने पाटीदार नेता हार्दिक पटेल को उनके समर्थकों सहित हिरासत में ले लिया है। हार्दिक सहित पाटीदार आरक्षण आंदोलन समिति के 19 संयोजक हिरासत में लिए गए हैं। इस दौरान पुलिस व हार्दिक समर्थकों में झड़प भी हुई।पाटीदार आरक्षण व किसानों की कर्जमाफी की मांग को लेकर रविवार को उपवास करने से पहले ही अहमदाबाद क्राइम ब्रांच ने पाटीदार नेता हार्दिक पटेल को उनके समर्थकों सहित हिरासत में ले लिया है। हार्दिक सहित पाटीदार आरक्षण आंदोलन समिति के 19 संयोजक हिरासत में लिए गए हैं। इस दौरान पुलिस व हार्दिक समर्थकों में झड़प भी हुई।   पाटीदार महिला नेता गीता पटेल को निकोल उपवास स्थल से पहले ही गिरफ्तार कर लिया गया। कांग्रेस प्रवक्ता मनीश दोष ने कहा कि पुलिस दमन से आंदोलन को दबाने का प्रयास किया जा रहा है। पाटीदार हित रक्षक समिति मोरबी ने सरकार को चेतावनी दी। पास की राजकोट विंग ने भी सरकार को चेताया है।  इससे पहले सुबह हार्दिक के निवास पर भारी संख्या में पुलिस बल तैनात किया गया था। हार्दिक का दावा है कि उनके डेढ़ सौ साथियों की पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है।    हार्दिक पटेल ने ट्वीट कर लिखा है कि उनके उपवास को रोकने के लिए अब तक उनके करीब डेढ़ सौ साथियों को पकड़ा जा चुका है। उपवास स्थल के आसपास वस्त्राल निकोल से 58 युवकों की, राजकोट से अहमदाबाद आ रहे 26 युवकों की चोटीला में धरपकड़ की गई है। हार्दिक ने बताया कि उनके अहमदाबाद एसजी हाइवे पर स्थित आवास पर उनके सहित 59 युवकों को नजर कैद किया गया है।   हार्दिक पटेल बोले, अहमदाबाद में मैदान नहीं मिला तो वाहनों पर बैठकर करेंगे उपवास यह भी पढ़ें   घर के आसपास भारी संख्या में पुलिस बल तैनात है। हार्दिक को प्रशासन ने 25 अगस्त से प्रस्तावित आमरण उपवास की मंजूरी नहीं दी है। इसके विरोध में उन्होंने रविवार को उसी इलाके में अपने पांच सौ साथियों के साथ उपवास की घोषणा की थी। शनिवार को मुख्यमंत्री विजय रूपाणी, उपमुख्यमंत्री नितिन पटेल व गृह राज्यमंत्री प्रदीप सिंह जाडेजा ने पाटीदार आंदोलन व हार्दिक के उपवास मुद्दे पर बैठक में चर्चा की थी।

पाटीदार महिला नेता गीता पटेल को निकोल उपवास स्थल से पहले ही गिरफ्तार कर लिया गया। कांग्रेस प्रवक्ता मनीश दोष ने कहा कि पुलिस दमन से आंदोलन को दबाने का प्रयास किया जा रहा है। पाटीदार हित रक्षक समिति मोरबी ने सरकार को चेतावनी दी। पास की राजकोट विंग ने भी सरकार को चेताया है।

इससे पहले सुबह हार्दिक के निवास पर भारी संख्या में पुलिस बल तैनात किया गया था। हार्दिक का दावा है कि उनके डेढ़ सौ साथियों की पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है।

हार्दिक पटेल ने ट्वीट कर लिखा है कि उनके उपवास को रोकने के लिए अब तक उनके करीब डेढ़ सौ साथियों को पकड़ा जा चुका है। उपवास स्थल के आसपास वस्त्राल निकोल से 58 युवकों की, राजकोट से अहमदाबाद आ रहे 26 युवकों की चोटीला में धरपकड़ की गई है। हार्दिक ने बताया कि उनके अहमदाबाद एसजी हाइवे पर स्थित आवास पर उनके सहित 59 युवकों को नजर कैद किया गया है।

घर के आसपास भारी संख्या में पुलिस बल तैनात है। हार्दिक को प्रशासन ने 25 अगस्त से प्रस्तावित आमरण उपवास की मंजूरी नहीं दी है। इसके विरोध में उन्होंने रविवार को उसी इलाके में अपने पांच सौ साथियों के साथ उपवास की घोषणा की थी। शनिवार को मुख्यमंत्री विजय रूपाणी, उपमुख्यमंत्री नितिन पटेल व गृह राज्यमंत्री प्रदीप सिंह जाडेजा ने पाटीदार आंदोलन व हार्दिक के उपवास मुद्दे पर बैठक में चर्चा की थी।

You May Also Like

English News