अनुष्का-वरुण की ‘सुई-धागा’ का LOGO होगा बेहद खास, बॉलीवुड में पहली बार देखने को मिलेगी ऐसी कलाकार

पहली बार किसी बॉलीवुड फिल्म का लोगो कारीगरों द्वारा बनाया गया है! ‘सुई धागा-मेड इन इंडिया’ की मार्केटिंग टीम भारतीय हस्तशिल्प की समृद्ध और विविध संस्कृति का जश्न मनाना चाहती थी। इसलिए टीम अद्वितीय सिलाई शैलियों में फिल्म का लोगो बनाने के लिए, देश के विभिन्न जगहों के कारीगरों और शिल्पीकारों तक पहुंची।  

यशराज फिल्म्स के मार्केटिंग एंड मर्केटाइजिंग के वाइस प्रेसीडेंट मनन मेहता कहते है,”हमारी फिल्म ‘सुई धागा-मेड इन इंडिया’ को देख कर हमें एहसास हुआ कि हमें सिर्फ फिल्म निर्माता की तरह काम नहीं करना है। असल में हमें खुद को अपने देश की कला और हस्तकला संस्कृति का विपणन करने वाली टीम के रूप में देखना पड़ा। हमारी इस रणनीति के साथ हमें एक ऐसे विचार की आवश्यकता थी जो हमारे पूरे अभियान का आधार हो।

फिल्म के लोगो डिजाइन करने के लिए देश के कारीगरों को आमंत्रित करने से बेहतर विचार क्या हो सकता था। हम पूरे देश के 15 विशिष्ट कुशल कलाकारों/कारीगरों तक पहुंचे, जिन्होंने फिल्म लोगो को डिजाइन करने में मदद की। यह वाईआरएफ और हम सब के लिए एक संपूर्ण और सबसे पुरस्कृत अनुभव रहा है। हमारे देश की विविधता और उद्यमी भावना का जश्न मनाते हुए, 15 विभिन्न शैलियों में बने लोगो की योजना बनाने, अनुसंधान करने और निष्पादित करने में छह महीने लग गए।”

सुई धागा लोगो कश्मीर के कशीदा और सोज़नी शैली में वैश्विक रूप से लोकप्रिय भारतीय हाथ और सुई की सहायता से बनाई गई। इसका लोगो पंजाब के रंगीन फुलकारी, जटिल धागे का काम रबारी, गुजरात से मोची भारत, उत्तर प्रदेश की फूल पत्ती और लखनऊ की जरदोजी शैली में भी बनाया गया है। यह राजस्थान के प्रमुख शिल्प जैसे आरी, बंजारा और गोटा पत्ती, तमिलनाडु की लोकप्रिय टोडा शैली और कर्नाटक की कासुति डिजाइन में भी बनाया गया है। पूर्र्वोत्तर भारत, जो भारत के हैंडलूम निर्यात में 50 प्रतिशत से अधिक योगदान देता है, से भी फिल्म का लोगो बनाया गया है। इसमें ओडिशा से पिपली शैली, असम से हैंडलूम का काम, पश्चिम बंगाल से कंथा सिलाई शैली शामिल है। 

भारत के 15 विभिन्न आर्ट फॉर्म में सुई से बनाए गए लोगो के जरिए सुई धागा आज के युवाओं के बीच भारत की संस्कृति के बारे में जागरूकता पैदा करने की उम्मीद करता हैं। साथ ही यह आधुनिक डिजाइन, कपड़े और फैशन पर भी प्रभाव डालता है। दिलचस्प बात यह है कि वाईआरएफ नेशनल हैंडलूम डे पर लोगो को रिलीज करेगा। यह दिन दुनिया भर में भारतीय हैंडलूम का जश्न मनाता है।  

यह फिल्म आत्मनिर्भरता के माध्यम से प्यार और सम्मान खोजने के बारे में है। वरुण धवन और अनुष्का शर्मा अभिनीत सुई धागा-मेड इन इंडिया एक हार्ट-वार्मिंग कहानी है, जो आत्मनिर्भरता की भावना का जश्न मनाती है।  फिल्म का प्लॉट महात्मा गांधी के दर्शन और बहु-प्रशंसित मेक इन इंडिया अभियान से भी प्रेरित है। वरुण ने एक दर्जी की भूमिका निभाई हैं, जबकि अनुष्का फिल्म में एक एम्ब्रोइडर का रोल निभा रही है। 

शानदार अभिनेता वरुण और अनुष्का पहली बार साथ काम कर रहे है और यह निश्चित रूप से 2018 की सबसे ज्यादा प्रतीक्षित फिल्म है। राष्ट्रीय पुरस्कार विजेता, निर्देशक शरत कटारिया और निर्माता मनीष शर्मा फिर से यश राज फिल्म्स के एंटरटेनर सुई धागा-मेड इन इंडिया के लिए एक साथ आए है। यह फिल्म इस साल 28 सितंबर को गांधी जयंती से पहले रिलीज होगी।

You May Also Like

English News