अपनी सरकार-अपना बेटा, क्या कर सकते हैं: मुलायम

सपा संरक्षक मुलायम सिंह यादव ने सोमवार को इटावा के जसवंतनगर की एक सभा में पार्टी में चल रहे उतार-चढ़ाव पर बोलते हुए कहा कि ‘उन्हें ही अपनी सरकार में कई बार जनहित के कार्यों को कराने के लिए दबाव बनाना पड़ा। ऐसे में वे क्या कर सकते हैं, सरकार भी अपनी है और बेटा भी अपना। इस सबके बीच सपा के युवा कार्यकर्ता एक रहें और शिवपाल सिंह यादव को रिकॉर्ड मतों से जिताकर विरोधियों की जमानत जब्त कराएं।’
अपनी सरकार-अपना बेटा, क्या कर सकते हैं: मुलायम
 
जसवंतनगर के हिंदू विद्यालय में आयोजित जनसभा को संबोधित करते हुए मुलायम सपा में चल रही रार पर सीमित रहे। उन्होंने बातों ही बातों में सपा कार्यकर्ताओं को यह संदेश दिया कि कुछ भी हो समाजवादी पार्टी और मुख्यमंत्री दोनों अपने हैं, एक होकर सपा को मजबूत करें।

बड़ी खबर: व्यापमं को लेकर SC का बड़ा फैसला, खतरे में आया 634 विद्यार्थियों का भविष्य

उन्होंने अपने शासनकाल की उपलब्धियों को गिनाया और कहा कि क्षेत्र से जितना जुड़ाव शिवपाल का है उतना प्रदेश में और किसी नेता का नहीं। उन्होंने जनसभा स्थल को अपनी पुरानी यादों से जोड़ते हुए कहा कि चौधरी चरण सिंह, कर्पूरी ठाकुर व जनेश्वर मिश्र जैसे बडे़-बड़े नेता कभी उनके साथ इस मंच पर हुआ करते थे और जसवंतनगर से चुनने के बाद ही वह राजनीति के शिखर पर पहुंचे और अगर अपने ही लोग गड़बड़ी नहीं करते तो वह प्रधानमंत्री भी बन चुके होते। 

बाथरूम वाले बयान पर अब शिवसेना ने मोदी पर किया पलटवार

हालांकि उन्होंने यह भी कहा कि अच्छा रहा कि वे प्रधानमंत्री नहीं बने, नहीं तो अभी तक भूतपूर्व हो चुके होते और राजनीति से भी दूर हो जाते। उन्होंने कहा कि जसवंतनगर सीट पर उन्हें सात बार जीत मिली और इसके बाद शिवपाल को भी क्षेत्र की जनता लगातार रिकॉर्ड जीत दिलाती आई है इसलिए इस बार पिछला रिकॉर्ड टूटना चाहिए और सपा प्रत्याशी की रिकॉर्ड मतों से जीत होनी चाहिए।

loading...

You May Also Like

English News