अफगानिस्तान के राष्ट्रपति दे रहे थे भाषण तभी आतंकियों ने किया रॉकेट से हमला

गृहयुद्ध की आग में झुलसे अफगानिस्तान की राजधानी काबुल में मंगलवार को आतंकियों ने रॉकेट से हमला किया. यह हमला उस समय हुआ, जब अफगानिस्तान के राष्ट्रपति अशरफ गनी ईद पर संदेश दे रहे थे. उन्होंने रॉकेट हमले की आवाज भी सुनी, लेकिन अपना संदेश भाषण नहीं रोका. इस बीच उन्होंने कहा कि आतंकवादी रॉकेट हमला करके भी देश की प्रगति को नहीं रोक पाएंगे.

बताया जा रहा है कि आतंकियों ने अफगानिस्तान के प्रेसिडेंशियल पैलेस को निशाना बनाकर नौ रॉकेट दागे. ये रॉकेट राजनयिक इलाके और ईदगाह के नजदीक गिरे. अधिकारियों ने बताया कि काबुल शहर के पुराने इलाके में सुरक्षा बलों और आतंकियों के बीच मुठभेड़ भी हुई. फिलहाल यह साफ नहीं हो पाया है कि आखिर यह हमला किसने किया?

सैन्य हेलिकॉप्टर रेका खाना जिले में ईदगाह मस्जिद के ऊपर गोलियां चलाई और आतंकियों को निशाना बनाया. वहीं, काबुलस्टेडियम के निकट बड़ी संख्या में सुरक्षा बलों की तैनाती की गई. गृह मंत्रालय के प्रवक्ता नजीब दानिश ने बताया कि मंगलवार सुबह आतंकियों के एक समूह ने रेका खाना में एक इमारत पर कब्जा कर लिया और काबुल की ओर कई रॉकेट दागे. इसमें दो लोग घायल हो गए. इस हमले के बाद सुरक्षा बलों ने भी आतंकियों को मुंहतोड़ जवाब दिया.

काबुल पुलिस के प्रवक्ता हश्मत स्तानिकजई ने मस्जिद के निकट आतंकियों और सुरक्षा बलों के बीच मुठभेड़ होने की पुष्टि की, लेकिन इस घटना में हताहत हुए लोगों के बारे में जानकारी नही दी. अफगानिस्तान में यह पहली बार नहीं है, जब आतंकियों ने ऐसा हमला किया है. इससे पहले भी ऐसे आतंकी हमले हो चुके हैं. फिलहाल इस ताजा हमले की जिम्मेदारी किसी आतंकी संगठन ने नहीं ली है, लेकिन इसके पीछे तालिबान के होने की आशंका है.

You May Also Like

English News