अफगानिस्तान में तालिबान ने किया हमला, 4 महिला समेत 12 लोगों की मौत

काबुल: अफगानिस्तान में तालिबान के हमलों में चार महिलाओं समेत 12 लोग मारे गये जबकि नाटो के हवाई हमले में नौ अफगान पुलिसकर्मियों की जान चली गयी. चार महिलाएं आतंकवादियों एवं सैनिकों के बीच गोलीबारी में मारी गयीं. पश्चिमी फराह प्रांत के गवर्नर के प्रवक्ता नासेर मेहरी ने बताया कि तालिबान ने प्रांत में एक सैन्य चौकी पर हमला किया जिसमें चार सैनिक मारे गये और छह अन्य घायल हुए.काबुल: अफगानिस्तान में तालिबान के हमलों में चार महिलाओं समेत 12 लोग मारे गये जबकि नाटो के हवाई हमले में नौ अफगान पुलिसकर्मियों की जान चली गयी. चार महिलाएं आतंकवादियों एवं सैनिकों के बीच गोलीबारी में मारी गयीं. पश्चिमी फराह प्रांत के गवर्नर के प्रवक्ता नासेर मेहरी ने बताया कि तालिबान ने प्रांत में एक सैन्य चौकी पर हमला किया जिसमें चार सैनिक मारे गये और छह अन्य घायल हुए.  सोमवार की देर रात को बाला बुलुक जिले में हमला शुरु हुआ था जो कई घंटे तक चला. मेहरी के अनुसार अफगान हवाई हमले में 19 तालिबान लड़ाके मारे गये और 30 घायल हो गये. पूर्वी लोगार प्रांत में चार महिलाएं मारी गयीं और चार बच्चे घायल हो गये. सोमवार की रात को पूर्वी गजनी प्रांत में तालिबान के हमले में चार पुलिसकर्मी मारे गये.  काबुल में हुई थी 3 सैनिकों की मौत उल्लेखनीय है कि इससे पहले 5 अगस्त को पूर्वी अफगानिस्तान में सैन्य गश्ती दल पर फिदायीन हमले में तीन विदेशी सैनिकों की मौत हो गई थी. यह हाल के महीनों में अमेरिका नीत नाटों बलों पर सबसे घातक हमलों में से एक माना जा रहा था. इस हमले की जिम्मेदारी तालिबान ने ली है. अफगानिस्तान में नाटो मिशन ने एक बयान में बताया कि अफगान बलों के साथ संयुक्त गश्त के दौरान एक फिदायीन हमले में रेजुलेट सपोर्ट सर्विस के तीन सदस्यों की मौत हो गई.

सोमवार की देर रात को बाला बुलुक जिले में हमला शुरु हुआ था जो कई घंटे तक चला. मेहरी के अनुसार अफगान हवाई हमले में 19 तालिबान लड़ाके मारे गये और 30 घायल हो गये. पूर्वी लोगार प्रांत में चार महिलाएं मारी गयीं और चार बच्चे घायल हो गये. सोमवार की रात को पूर्वी गजनी प्रांत में तालिबान के हमले में चार पुलिसकर्मी मारे गये.

काबुल में हुई थी 3 सैनिकों की मौत
उल्लेखनीय है कि इससे पहले 5 अगस्त को पूर्वी अफगानिस्तान में सैन्य गश्ती दल पर फिदायीन हमले में तीन विदेशी सैनिकों की मौत हो गई थी. यह हाल के महीनों में अमेरिका नीत नाटों बलों पर सबसे घातक हमलों में से एक माना जा रहा था. इस हमले की जिम्मेदारी तालिबान ने ली है. अफगानिस्तान में नाटो मिशन ने एक बयान में बताया कि अफगान बलों के साथ संयुक्त गश्त के दौरान एक फिदायीन हमले में रेजुलेट सपोर्ट सर्विस के तीन सदस्यों की मौत हो गई.

You May Also Like

English News