अब जिन्ना विवाद में अखिलेश के समाजवादी भी…

हाल ही में देश में एक नया विवाद चल पड़ा है, देश की राजनीति और मौजूदा हालात में आजादी के इतने सालों बाद अब देश के कुछ बुद्धिजीवी पाकिस्तान के जनक मोहम्मद अली जिन्ना को लेकर विवाद कर रहे है, और इसी विवाद में कूद पड़े है समाजवादी पार्टी के हाल ही में निर्वाचित हुए गोरखपुर लोकसभा सीट के सांसद प्रवीण निषाद, जिन्होंने जिन्ना पर विवादित बयान दिया लेकिन बाद अपने बयान पर सफाई भी दी. हाल ही में देश में एक नया विवाद चल पड़ा है, देश की राजनीति और मौजूदा हालात में आजादी के इतने सालों बाद अब देश के कुछ बुद्धिजीवी पाकिस्तान के जनक मोहम्मद अली जिन्ना को लेकर विवाद कर रहे है, और इसी विवाद में कूद पड़े है समाजवादी पार्टी के हाल ही में निर्वाचित हुए गोरखपुर लोकसभा सीट के सांसद प्रवीण निषाद, जिन्होंने जिन्ना पर विवादित बयान दिया लेकिन बाद अपने बयान पर सफाई भी दी.   प्रवीण निषाद ने कहा कि 'जिस तरह देश की आजादी में गांधी और नेहरू का योगदान था ठीक उसी तरह जिन्ना का भी योगदान था.' आगे निषाद ने कहा कि 'हम ये नहीं कह सकते कि जिन्ना का योगदान भी उतना ही है जितना नेहरू और गाँधी का है.' इस मुद्दे पर निषाद ने लोकसभा में बीजेपी पर निशाना साधा है.  निषाद ने कहा कि जब हम भगत सिंह का नाम लेते हैं तो हम अशफाक उल्ला खां और वीर अब्दुल हमीद का नाम भी लेते हैं जिन्होंने देश के लिए बलिदान किया लेकिन लेकिन बीजेपी चाहती है इनका योगदान भूल जाए. इस देश में सबका सामान अधिकार है, यहाँ की जमीन पर जो पैदा हुआ सबका सामान अधिकार है. हम अगर इस देश के नागरिक है तो मुस्लिम भाई भी इस देश के नागरिक है. बीजेपी यह सब कुछ 2019 चुनाव की रणनीति के तहत करवा रही है.

प्रवीण निषाद ने कहा कि ‘जिस तरह देश की आजादी में गांधी और नेहरू का योगदान था ठीक उसी तरह जिन्ना का भी योगदान था.’ आगे निषाद ने कहा कि ‘हम ये नहीं कह सकते कि जिन्ना का योगदान भी उतना ही है जितना नेहरू और गाँधी का है.’ इस मुद्दे पर निषाद ने लोकसभा में बीजेपी पर निशाना साधा है.

निषाद ने कहा कि जब हम भगत सिंह का नाम लेते हैं तो हम अशफाक उल्ला खां और वीर अब्दुल हमीद का नाम भी लेते हैं जिन्होंने देश के लिए बलिदान किया लेकिन लेकिन बीजेपी चाहती है इनका योगदान भूल जाए. इस देश में सबका सामान अधिकार है, यहाँ की जमीन पर जो पैदा हुआ सबका सामान अधिकार है. हम अगर इस देश के नागरिक है तो मुस्लिम भाई भी इस देश के नागरिक है. बीजेपी यह सब कुछ 2019 चुनाव की रणनीति के तहत करवा रही है.

You May Also Like

English News