अब ट्रांसलेशन में नहीं होगी दिक्कत, Google Translate के इस ऐप का करें इस्तेमाल

पिछले साल नवंबर में गूगल ट्रांसलेट ने न्यूरल मशीन ट्रांसलेशन लॉन्च किया। इस दौरान यह महज 8 लैंग्वेज में ही अवेलेबल था लेकिन अब गूगल ने बेहतर ट्रांसलेशन करने वाले इस सिस्टम को हिंदी, रूसी और वियनताम की लैंग्वेज के लिए जारी कर दिया है। अब गूगल इन लैंग्वेज का ट्रांसलेशन करने के लिए ट्रांसलेट ऐप और ट्रांसलेशन टूल यूज करेगा। गूगल के मुताबिक, न्यूरल मशीन ट्रांसलेशन में एक-एक शब्द का ट्रांसलेशन करने के बजाय पूरे वाक्य को समझकर उसका ट्रांसलेशन किया जाता है।गूगल ट्रांसलेट

गूगल ट्रांसलेट की न्यूरल मशीन करेगी बेहतर अनुवाद

वहीं, इससे पहले किए जाने वाले ट्रांसलेशन में बहुत बुनियादी वाक्य ही ट्रांसलेट हो पाते थे और कई बार उनका भी अर्थ बदल जाता था। मगर न्यूरल मशीन ट्रांसलेशन पहले वाले टूल से बेहतर अनुवाद करेगा।

गूगल ने अपने ब्लॉग में लिखा है, ‘न्यूरल ट्रांसलेशन हमारी पिछली टेक्नॉलजी से बहुत अच्छा है। ऐसा इसलिए क्योंकि वाक्य के हिस्सों को ट्रांसलेट करने के बजाय इसमें पूरे वाक्य का अनुवाद किया जाता है। इससे ट्रांसलेशन ज्यादा सटीक हो जाता है। यह वैसे ही रूप में होता है जैसे लोग बात कहते हैं।’

जल्द ही सभी आईओएस और ऐंड्रॉयड यूजर्स के गूगल ट्रांसलेट ऐप्स को अपडेट मिल जाएगा। यह फीचर गूगल सर्च और गूगल ऐप पर भी ऐक्सेस किया जा सकता है। गूगल का कहना है कि आने वाले दिनों में अन्य भाषाओं के लिए भी न्यूरल मशीन ट्रांसलेशन लाया जाएगा

You May Also Like

English News