अब पंजाब, हरियाणा और चंडीगढ़ में GST की वजह से महंगी हो गईं ये चीजें…

एक जुलाई से जीएसटी के लागू होते ही सस्ती होने के साथ साथ कई चीजें महंगी भी हो गईं, जो आपकी कई ख्वाहिशों की पूर्ति में बाधक बन सकती हैं। जीएसटी के लागू होते ही सस्ती होने के साथ साथ कई चीजें महंगी

B’day स्पेशलः अखिलेश और डिम्पल की लव स्टोरी किसी रोमांटिक फिल्म से कम नहीं…

जीएसटी लागू होते ही एक जुलाई से ट्रेन के टिकटों की कीमतें भी बदल जाएगी। ट्रांसपोर्ट को जीएसटी में 5 फीसदी के रेट में रखा गया है। एसी ट्रेन या एसी बसों में यात्रा पर 5 फीसदी टैक्स लगेगा। जीएसटी लागू होने के बाद बिजनेस क्लास के टिकट महंगे होने जा रहे हैं, क्योंकि अभी इन पर 8.40 प्रतिशत टैक्स लग रहा है। जीएसटी में यह बढ़कर 12 प्रतिशत हो जाएगा।

जीएसटी के लागू होने पर सैर सपाटा महंगा होगा। अब टूर एंड ट्रैवल पर 18 फीसदी टैक्स लगेगा, जो अभी 15 फीसदी लगता था। एक जुलाई से रेस्टोरेंट में खाना महंगा हो जाएगा। अभी इसके बिल पर वैट लगाकर 11 फीसदी टैक्स लिया जाता है। 1 जुलाई के बाद नॉन-एसी रेस्टोरेंट में फूड बिल पर 12 फीसदी, शराब लाइसेंस और एसी वाले रेस्टोरेंट में 18 फीसदी और लग्जरी रेस्टोरेंट में 28 फीसदी जीएसटी लगेगा। 
शैंपू और परफ्यूम महंगे होंगे। इस पर 28 फीसदी जीएसटी लगेगा, जबकि इस पर अभी 22 फीसदी टैक्स लगता था। जीएसटी लागू होने के बाद मोबाइल बिल महंगा हो जाएगा। सरकार इस पर 18 फीसदी जीएसटी वसूलेगी। अभी तक 15 फीसदी टैक्स लगता था। जीएसटी के बाद दुकान या फ्लैट खरीदने पर 12 फीसदी टैक्स देना होगा, फिलहाल यह करीब 6 फीसदी है।
जीएसटी लागू होने के बाद सोना महंगा हो जाएगा। सोने पर इस समय 1 फीसदी उत्पाद शुल्क और राज्यों द्वारा 1 फीसदी वैट लगाया जाता है। अब इस पर 3 फीसदी टैक्स लगाने का फैसला किया गया है। ट्यूशन फीस और सलून पर भी 18 फीसदी टैक्स देना होगा। अब तक इन पर 15 फीसदी टैक्स ही रहा है। 1,000 रुपये से अधिक की कीमत के कपड़ों की खरीदारी पर 12 फीसदी टैक्स चुकाना होगा।
इसी तरह ब्यूटी पार्लर जाना भी महंगा पड़ेगा। कोचिंग क्लासेज महंगे हो जाएंगे क्योंकि अभी इन पर 15 प्रतिशत टैक्स लगता है जो जुलाई से बढ़कर 18 प्रतिशत होने जा रहा है। बैंकिंग सर्विसेज महंगी होने जा रही हैं क्योंकि अभी इन पर 15 प्रतिशत टैक्स देना पड़ता है जबकि जीएसटी में 18 प्रतिशत टैक्स तय हुआ है। यानी 1 जुलाई से डिमांड ड्राफ्ट, फंड ट्रांसफर जैसी सेवाएं महंगी पड़ेंगी।
मोबाइल फोन कुछ राज्यों के लिए सस्ते होंगे, कुछ राज्यों के लिए महंगे। मोबाइल पर 12 फीसदी टैक्स लगेगा। जिन राज्यों में वैट 14 फीसदी था, वहां मोबाइल सस्ता होगा, लेकिन कर्नाटक, तमिलनाडु, केरल जैसे राज्यों में वैट 5 फीसदी है। इसलिए वहां के लोगों को मोबाइल पर 12 फीसदी टैक्स देना होगा और वहां मोबाइल महंगे हो जाएंगे।

 
जीएसटी लागू होने के बाद क्रेडिट कार्ड का बिल पेमेंट महंगा हो जाएगा। अभी तक क्रेडिट कार्ड के बिल पेमेंट पर 15 फीसदी सर्विस टैक्स लगता है, लेकिन एक जुलाई से 18 फीसदी सर्विस टैक्स देना होगा। बीमा पॉलिसी एक जुलाई से महंगी होगी। बीमा को 18 फीसदी की कैटेगरी में रखा गया है। अब तक बीमा पर 15 फीसदी टैक्स लगता था।

 

You May Also Like

English News