अब फिर से BCCI का विरोध करेगा पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड, FTP प्रोग्राम पर उठाए ये सवाल

भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) ने हाल ही में अपने नए फ्यूचर टूर प्रोग्राम (एफटीपी) की घोषणा कर दी है। मगर इस एफटीपी प्रोग्राम में टीम इंडिया और पाकिस्तान के बीच कोई द्विपक्षीय सीरीज को शामिल नहीं किया गया है। इसको लेकर पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड (पीसीबी) ने असमति जताई  है और उस पर सवाल उठाया है।अब फिर से BCCI का विरोध करेगा पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड, FTP प्रोग्राम पर उठाए ये सवालमोटी कमाई के नुकसान से थर्राया PCB, BCCI को दी बड़ी धमकी

दरअसल, बीसीसीआई ने दिल्ली में की हुई अपनी विशेष आम बैठक (एसजीएम) में वर्ष 2019 से 2023 तक के लिए नए फ्यूचर टूर प्रोग्राम(एफटीपी) की घोषणा की थी, जिसमें वह पहले के मुकाबले 81 मैच घरेलू जमीन पर खेलेगा जिसमें दक्षिण अफ्रीका, आस्ट्रेलिया, इंग्लैंड जैसी बड़ी टीमों के साथ भी उसकी द्विपक्षीय सीरीज शामिल है। हालांकि इसमें पाकिस्तान के साथ कोई सीरीज नहीं है।  

पीसीबी ने बीसीसीआई के इस नए एफटीपी पर असहमति जताते हुए कहा है कि वह तब तक इस नये कार्यक्रम पर हस्ताक्षर नहीं करेगा जब तक कि टीम इंडिया उसके साथ खेलने पर सहमति न दे दे। पीसीबी ने अपनी इस शिकायत को अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी) की विवाद निवारण समिति के समक्ष भेज दिया है। हालांकि पीसीबी की लंबे समय से इस बारे में अपील और टीम इंडिया के साथ खेलने की काफी कोशिशों के बावजूद भी बीसीसीआई के रूख में कोई परिवर्तन नहीं आया है। 

पीसीबी ने कहा, ‘हमारी यह स्थिति अब भी बनी हुई है। बीसीसीआई ने 2014 में एक समझौते पत्र पर हस्ताक्षर किया था, जिसमें पाकिस्तान के खिलाफ 2015 से 2023 तक घरेलू और विदेशी सरजमीं के आधार पर छह द्विपक्षीय सीरीज खेलने का प्रावधान था।’

 

You May Also Like

English News