अब महिलाओं को सेनेटरी पैड से छुटकारा दिलाएगा यह कप

सिंगापूर में तीन बहनों ने विश्व की सभी लड़कियों के लिए एक अनोखी टेक्निक ईजाद कि है जिसके हिसाब से अब लड़कियों को पीरियड्स में बार-बार सेनेटरी पैड बदलने से छुटकारा मिल सकेगा. इन बहनों के द्वारा ईजाद की गई टेक्निक का नाम है ‘फ्रीडम कप”. नेपाल, भारत जैसे अन्य देशों की महिलाओं को ध्यान में रखकर बनाया गया यह कप महिलाओं को पीरियड्स के प्रॉब्लम्स से छुटकारा दिलाएगा. सिंगापूर में तीन बहनों ने विश्व की सभी लड़कियों के लिए एक अनोखी टेक्निक ईजाद कि है जिसके हिसाब से अब लड़कियों को पीरियड्स में बार-बार सेनेटरी पैड बदलने से छुटकारा मिल सकेगा. इन बहनों के द्वारा ईजाद की गई टेक्निक का नाम है 'फ्रीडम कप". नेपाल, भारत जैसे अन्य देशों की महिलाओं को ध्यान में रखकर बनाया गया यह कप महिलाओं को पीरियड्स के प्रॉब्लम्स से छुटकारा दिलाएगा.     घंटी के आकार के इस कप को गर्भाशय के निचले हिस्से में फिट किया जाता है, जहाँ से पीरियड्स के दौरान ब्लड निकलता है. एक ओर जहाँ महंगे सेनेटरी पैड खरीदने के बाद उन्हें बार बदलने-बदलने की झंझट परेशान करती है वहीं इस कप को एक बार लगाने के बाद यह करीब 12 घंटे तक काम करता है. वहीं इस कप को यूज करने के बाद फेंकना नहीं होता है बल्कि आप दोबारा यूज कर सकते है.   दरअसल यह कप मेडिकल ग्रेड सिलिकॉन का बना होता है. यह कप एक बार खरीदने के बाद करीब 10 सालों तक वैसा ही बना रहेगा जैसा यह है. इसको एक बार यूज करने के बाद आप धोकर किसी ऐसी जगह रख सकती है, जहाँ से यह प्रदूषित न हो. वहीं अगली बार फिर जब इसे यूज करने की बारी आती है, आप निकाल सिंगापूर में तीन बहनों ने विश्व की सभी लड़कियों के लिए एक अनोखी टेक्निक ईजाद कि है जिसके हिसाब से अब लड़कियों को पीरियड्स में बार-बार सेनेटरी पैड बदलने से छुटकारा मिल सकेगा. इन बहनों के द्वारा ईजाद की गई टेक्निक का नाम है 'फ्रीडम कप". नेपाल, भारत जैसे अन्य देशों की महिलाओं को ध्यान में रखकर बनाया गया यह कप महिलाओं को पीरियड्स के प्रॉब्लम्स से छुटकारा दिलाएगा.     घंटी के आकार के इस कप को गर्भाशय के निचले हिस्से में फिट किया जाता है, जहाँ से पीरियड्स के दौरान ब्लड निकलता है. एक ओर जहाँ महंगे सेनेटरी पैड खरीदने के बाद उन्हें बार बदलने-बदलने की झंझट परेशान करती है वहीं इस कप को एक बार लगाने के बाद यह करीब 12 घंटे तक काम करता है. वहीं इस कप को यूज करने के बाद फेंकना नहीं होता है बल्कि आप दोबारा यूज कर सकते है.   दरअसल यह कप मेडिकल ग्रेड सिलिकॉन का बना होता है. यह कप एक बार खरीदने के बाद करीब 10 सालों तक वैसा ही बना रहेगा जैसा यह है. इसको एक बार यूज करने के बाद आप धोकर किसी ऐसी जगह रख सकती है, जहाँ से यह प्रदूषित न हो. वहीं अगली बार फिर जब इसे यूज करने की बारी आती है, आप निकाल कर इसे यूज कर सकते है. कर इसे यूज कर सकते है.

घंटी के आकार के इस कप को गर्भाशय के निचले हिस्से में फिट किया जाता है, जहाँ से पीरियड्स के दौरान ब्लड निकलता है. एक ओर जहाँ महंगे सेनेटरी पैड खरीदने के बाद उन्हें बार बदलने-बदलने की झंझट परेशान करती है वहीं इस कप को एक बार लगाने के बाद यह करीब 12 घंटे तक काम करता है. वहीं इस कप को यूज करने के बाद फेंकना नहीं होता है बल्कि आप दोबारा यूज कर सकते है. 

दरअसल यह कप मेडिकल ग्रेड सिलिकॉन का बना होता है. यह कप एक बार खरीदने के बाद करीब 10 सालों तक वैसा ही बना रहेगा जैसा यह है. इसको एक बार यूज करने के बाद आप धोकर किसी ऐसी जगह रख सकती है, जहाँ से यह प्रदूषित न हो. वहीं अगली बार फिर जब इसे यूज करने की बारी आती है, आप निकाल कर इसे यूज कर सकते है. 

 

You May Also Like

English News