अब 16 जून से पेट्रोल- डीजल की होगी किल्लत , 3300 पेट्रोल पंप रहेंगे बंद

हर रोज बदलने वाले पेट्रोल और डीजल के दामों के पायलट को अब पूरे देश में लागू किया जा रहा है। जिसके चलते अब 3300 पेट्रोल पंप बंद होने वाले हैं।अब 16 जून से पेट्रोल- डीजल की होगी किल्लत , 3300 पेट्रोल पंप रहेंगे बंदअभी अभी: केंद्र के पैसे पर अखिलेश ने की सियासत, योगी ने भुनाया, यूं मिल रहा फायदा

सरकार ने देश में 15-16 जून की मध्यरात्रि से पेट्रोल एवं डीजल के दाम रोजाना आधार पर तय करने का एलान किया है। वहीं पेट्रोलियम डीलर को यह रास नहीं आ रहा है। इसके विरोध में पंजाब के पेट्रोलियम डीलर 15-16 जून की मध्यरात्रि से अनिश्चितकालीन हड़ताल पर चले जाएंगरे। इसके बाद प्रदेश में पेट्रोलियम उत्पादों की किल्लत होना तय है। पेट्रोलियम डीलरों का साफ कहना है कि इससे उनको रोजाना नुकसान होगा, इसकी भरपाई करना संभव नहीं है। ऐसे में सरकार का यह फरमान उनको मंजूर नहीं है। 

उल्लेखनीय है सरकार ने पहले पायलट प्रोजेक्ट के तौर पर देश के पांच शहरों चंडीगढ़, जमशेदपुर, पाडुचेरी, उदयपुर एवं विशाखापट्टनम में चालीस दिनों के लिए दैनिक मूल्य परिवर्तन प्रणाली को शुरू किया था। अब  इसे पूरे देश में 16 जून से लागू करने का प्रस्ताव है।  

उधर तेल कंपनियों ने सभी डीलरों को आश्वस्त किया है कि 15 जून की मध्य रात्रि के बाद अगले दिन का रेट देर शाम आठ बजे तक घोषित कर दिया जाएगा। इसकी सूचना एसएमएस, ई-मेल, मोबाइल एप, डीलर के वेब पोर्टल पर उपलब्ध करा दी जाएगी। ताकि रेट को लेकर उनको किसी भी तरह की दिक्कत न हो।

गौरतलब है कि पंजाब में कुल 3387 पेट्रोल पंप हैं। इनमें से 3218 पंप सरकारी तेल कंपनियों ने जुड़े हैं और बाकी निजी कंपनियों के। सूबे मेें रोजाना 30 लाख 91 हजार लीटर पेट्रोल एवं 110 लाख लीटर से अधिक डीजल की बिक्री होती है। नतीजतन सूबे में रोजाना करीब साठ करोड़ रुपये के डीजल एवं 21.74 करोड़ रुपये के पेट्रोल की बिक्री होती है। ऐसे में एक दिन की हड़ताल से प्रदेश में करीब 82 करोड़ के पेट्रो उत्पादों की बिक्री प्रभावित हो सकती है। 

You May Also Like

English News