अभियान की अनुपम खेर ने की निंदा, कहा – इसने मुस्लिमों को दिखाया छोटा

अभिनेता अनुपम खेर ने सोशल मीडिया पर चले रहे ‘हैश टॉक टू ए मुस्लिम’ अभियान की निंदा करते हुए इसे बेहूदा बताया है. अनुपम शुक्रवार को यहां केंद्रीय औद्योगिकी सुरक्षा बल (सीआईएसएफ) की स्वर्ण जयंती वर्ष पूरे होने पर आयोजित कार्यक्रम में मीडिया को संबोधित कर रहे थे.अभिनेता अनुपम खेर ने सोशल मीडिया पर चले रहे 'हैश टॉक टू ए मुस्लिम' अभियान की निंदा करते हुए इसे बेहूदा बताया है. अनुपम शुक्रवार को यहां केंद्रीय औद्योगिकी सुरक्षा बल (सीआईएसएफ) की स्वर्ण जयंती वर्ष पूरे होने पर आयोजित कार्यक्रम में मीडिया को संबोधित कर रहे थे.  ट्विटर पर 'हैश टॉक टू ए मुस्लिम' अभियान पर उपयोगकर्ता कमेंट कर रहे हैं. स्वरा भास्कर और गौहर खान जैसी शख्शियतों ने भी इस पर अपने विचार व्यक्त किए हैं. अनुपम खेर ने अभियान पर कहा, "मैं एक ऐसे परिवार से आया हूं जिसने कभी यह नहीं सिखाया कि दूसरे धर्म होते हैं. हम सभी धर्मो का सम्मान करते हैं और यह एक बेहूदा अभियान है."  ये भी पढ़ें: सिनेमा हॉल्स में खाना ले जाने के सरकार के फैसले का फिल्मी स्टार्स कर रहे विरोध  उन्होंने कहा, "मुझे लगता है कि इस अभियान में मुस्लिमों को छोटा बताया है, जो मेरे हिसाब से शर्मनाक है. हमें किसी की धार्मिक भावनाओं को नहीं दुखाना चाहिए. आज कोई अभियान चलाना वास्तव में बहुत आसान हो गया है. प्रतिदिन सोशल मीडिया पर कोई ना कोई अभियान ट्रेंड करने लगता है. मुझे लगता है कि कुशलता से काम करते हुए हमें चलन शुरू करना चाहिए. हर किसी के खून और जीवन में 'आई एम अ इंडियन' अभियान चलना चाहिए."   View image on Twitter View image on Twitter  Gauahar Khan ✔ @GAUAHAR_KHAN  #TalkToAMuslim  seriously didn’t think a day would come where talking to a muslim leader or a commoner would question ur patriotism or ur belief in ur own faith!!by land I am a Hindu ,by faith I am a Muslim and by heart n soul INDIAN is my identity !!! #killThehate #spreadlove  4:53 PM - Jul 17, 2018 10.5K 4,243 people are talking about this Twitter Ads info and privacy    अनुपम ने सीआईएसएफ कर्मियों के साथ राष्ट्रगान गाया. उन्होंने कहा, "मैं वर्दी पहनने वाले लोगों के प्रति हमेशा ही खुद को भावुक और गौरवान्वित महसूस करता हूं." शिमला में बीते अपने बचपन के दिनों की याद ताजा करते हुए उन्होंने बताया कि वहां पश्चिमी कमान का मुख्यालय था, वहां 'जय हिंद' या राष्ट्र गान गाना स्वाभाविक था.  ये भी पढ़ें: GST काउंसिल ने सैनिटरी नैपकिन को किया टैक्स फ्री, अक्षय कुमार ने किया शुक्रिया अदा  उन्होंने कहा, "हाल ही में एथलीट हिमा दास भी स्वर्ण पदक जीतने के बाद तब रोने लगी थीं जब पुरस्कार समारोह में अपना राष्ट्र गान चल रहा था. इसलिए जब आप तिरंगा झंडा देखें और पाश्र्व में राष्ट्रगान चल रहा हो तो आपके रोंगते खड़े होना स्वाभाविक है."
ट्विटर पर ‘हैश टॉक टू ए मुस्लिम’ अभियान पर उपयोगकर्ता कमेंट कर रहे हैं. स्वरा भास्कर और गौहर खान जैसी शख्शियतों ने भी इस पर अपने विचार व्यक्त किए हैं. अनुपम खेर ने अभियान पर कहा, “मैं एक ऐसे परिवार से आया हूं जिसने कभी यह नहीं सिखाया कि दूसरे धर्म होते हैं. हम सभी धर्मो का सम्मान करते हैं और यह एक बेहूदा अभियान है.”

उन्होंने कहा, “मुझे लगता है कि इस अभियान में मुस्लिमों को छोटा बताया है, जो मेरे हिसाब से शर्मनाक है. हमें किसी की धार्मिक भावनाओं को नहीं दुखाना चाहिए. आज कोई अभियान चलाना वास्तव में बहुत आसान हो गया है. प्रतिदिन सोशल मीडिया पर कोई ना कोई अभियान ट्रेंड करने लगता है. मुझे लगता है कि कुशलता से काम करते हुए हमें चलन शुरू करना चाहिए. हर किसी के खून और जीवन में ‘आई एम अ इंडियन’ अभियान चलना चाहिए.”

अनुपम ने सीआईएसएफ कर्मियों के साथ राष्ट्रगान गाया. उन्होंने कहा, “मैं वर्दी पहनने वाले लोगों के प्रति हमेशा ही खुद को भावुक और गौरवान्वित महसूस करता हूं.” शिमला में बीते अपने बचपन के दिनों की याद ताजा करते हुए उन्होंने बताया कि वहां पश्चिमी कमान का मुख्यालय था, वहां ‘जय हिंद’ या राष्ट्र गान गाना स्वाभाविक था.

उन्होंने कहा, “हाल ही में एथलीट हिमा दास भी स्वर्ण पदक जीतने के बाद तब रोने लगी थीं जब पुरस्कार समारोह में अपना राष्ट्र गान चल रहा था. इसलिए जब आप तिरंगा झंडा देखें और पाश्र्व में राष्ट्रगान चल रहा हो तो आपके रोंगते खड़े होना स्वाभाविक है.”

You May Also Like

English News