अभी-अभी: अखिलेश और ममता ने मिलाया मोदी के सबसे पुराने साथी से हाथ, 2019 में BJP को रोकना लक्ष्य

लखनऊ। उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव 2019 में बीजेपी की विजयी रथ को रोकने के लिए पश्चिम बंगाल की सीएम ममता बनर्जी से हाथ मिला सकते हैं। अखिलेश यादव ने सोमवार को दिल्ली जाकर ममता बनर्जी से मुलाकात की।

अभी अभी: योगी सरकार ने रच दिया एक और बड़ा इतिहास, अटके हुए फैसलों पर लगाई मुहर

माना जा रहा है कि उनके बीच नए गठबंधन को लेकर बातचीत हुई है। बता दें कि इससे पहले अखिलेश नीतीश कुमार से भी मिल चुके हैं। बता दें कि नीतीश कुमार और नरेंद्र मोदी का पुराना रिश्ता रहा है। ऐसे में अखिलेश का कुमार का साथ लेना मोदी के लिए नुकसान देह रह सकता है।

बड़ी खबर : 2019 लोकसभा चुनाव एनडीए मोदी के नेतृत्व में लड़ेगा

ममता बनर्जी सोमवार को नरेंद्र मोदी से मिलने दिल्ली आई थीं। इसी बीच अखिलेश उनसे मिलने पहुंच गए। कहा जा रहा है कि अखिलेश यूपी चुनाव में मिली हार के बाद अब वह बीजेपी के खिलाफ नया अलायंस बना सकते हैं। सूत्रों के मुताबिक, ममता लगातार अखिलेश यादव के कॉन्टैक्ट में हैं। यह भी कहा जा रहा है कि उन्ही के बुलावे पर अखिलेश दिल्ली गए थे।

यूपी विधानसभा चुनाव की कैम्पेनिंग के दौरान जब ममता ने नोटबंदी के खिलाफ लखनऊ में अपना विरोध प्रदर्शन किया था तो अखिलेश ने ही उनकी मदद की थी। खुद अखिलेश उन्हें रिसीव करने एयरपोर्ट गए थे। इससे पहले जब अखिलेश के परिवार में कलह चल रही थी तब भी ममता ने उन्हें फोन करके अपना समर्थन जाहिर किया था। 

बताया जाता है कि ममता बनर्जी पिछले प्रेसिडेंट इलेक्शन में मुलायम सिंह के यू-टर्न से काफी नाराज थीं। इस वजह से उन्होंने अखिलेश यादव को ही सपोर्ट करने पर फैसला लिया था।

You May Also Like

English News