अभी-अभी: कर्नाटक के आईएएस अधिकारी का शव हजरतगंज में गेस्ट हाउस के सामने मिला!

लखनऊ: हजरतगंज के मीराबाई मार्ग स्थित मीराबाई गेस्ट हाउस में ठहरे कर्नाटक कैडर के आईएस अधिकारी अनुराग तिवारी की शव बुधवार की सुबह गेस्ट हाउस के सामने पड़ा मिला। उनकी मौत कैसे हुई फिलहाल इस बात का पता नहीं चल सका है। उनकी ठौड़ी पर चोट के निशान मिले और नाक से खून निकल रहा था। पुलिस इस मामले में सभी पहलुओं पर छानबीन कर रही है।

 


एसएसपी दीपक कुमार ने बताया कि बहराइच के कानूनगोपुरा निवासी सेवानिवृत्त लेक्चरार बीए तिवारी के छोटे बेटे 35 वर्षीय अनुराग तिवारी वर्ष 2007 कर्नाटक बैच के आईएएस अधिकारी थे। वह कर्नाटक में डायरेक्टर फूड एण्ड सप्लाई पद पर तैनात थे। दो दिन पहले वह लखनऊ आये थे और यहां पर मीराबाई गेस्ट हाउस के कमरा नम्बर 19 में ठहरे हुए थे। अनुराग तिवारी एलडीए वीसी प्रभुनाथ सिंह के बैचमेट थे।

एलडीए वीसी ने बताया कि मंगलवार की रात उन दोनों में एक साथ आर्यन रेस्टोरेंट में खाना खाया और काफी देर साथ रहे। इसके बाद रात करीब 10 बजे वह लोग अपने-अपने कमरे में चले गये। एलडीए वीसी भी मौजूदा समय में मीरा बाई गेस्ट हाउस में रह रहें हैं। इसके बाद क्या हुआ किसी को कुछ नहीं पता चला। बुधवार की सुबह करीब 6.30 बजे अनुराग तिवारी का शव लोगों ने गेस्ट हाउस के सामने सड़क पर देखा। लोगों ने इस बात की खबर पुलिस वालों को दी। खबर पाकर मौके पर पुलिस वाले पहुंचे और तलाशी ली तो उनके पास से आईडी कार्ड मिला।

आईडी कार्ड आईएएस अधिकारी का था। कार्ड देख पुलिसकर्मी दंग रह गये। आनन-फानन में उनको इलाज के लिए हजरतगंज पुलिस ने सिविल अस्पताल में भर्ती कराया, जहां डाक्टरों ने उनको मृत घोषित कर दिया। आईएएस अधिकारी की मौत की खबर मिलते ही मौके पर एडीजी जोन, आईजी रेंज, एसएसपी, डीएम, एलडीए वीसी, एसएसपी एसटीएम अमित पाठक सहित अन्य अधिकारी भी पहुंच गये। पुलिस ने फौरन इस बात की खबर अनुराग तिवारी के परिवार वालों को दी। खबर पाकर लखनऊ में रह रहे अनुराग के कुछ रिश्तेदार सिविल अस्पताल पहुंच गये। अनुराग के परिवार में पिता, मां सुशीला, दो बड़े भाई आलोक और मयंक हैं। छानबीन के बाद हजरतगंज पुलिस ने अनुराग तिवारी के शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया।
पत्नी से विवाद की बात पुलिस को पता चली
एसपी पूर्वी शिवराम यादव ने बताया कि अभी तक की गयी छानबीन में इस बात का पता चला है कि आईएएस अधिकारी अनुराग तिवारी और उनकी पत्नी के बीच काफी समय से मनमुटाव चल रहा था। इस को लेकर वह मानसिक रूप से परेशान थे। मौत का सही कारण पोस्टमार्टम रिपोर्ट में पता चल जायेगा।
बीमारी या फिर सड़क हादसा हो सकता है: एसएसपी
आईएसएस अधिकारी अनुराग तिवारी की मौत के मामले में एसएसपी लखनऊ दीपक कुमार का कहना है कि उनकी मौत के पीछे दो वजह लग रही है। पहली वजह अचानक दिल का दौरा या फिर ब्रेन हैमरेज होना होसकता है। वहीं दूसरी वजह यह हो सकती है कि शायद किसी वाहन की टक्कर लगने के बाद अनुराग तिवारी सड़क पर गिरे और अचानक उनकी मौत हो गयी। एसएसपी का कहना है कि पोस्टमार्टम रिपोर्ट सारे सवालों का जवाब दे देगी।

You May Also Like

English News