अभी-अभी: कांग्रेस की रैली के लिए मंत्रियों को ‌दिया ये बड़ा टारगेट…

कांग्रेस पार्टी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष राहुल गांधी की मंडी रैली को सफल बनाने के ल‌िए संगठन ने मंत्रियों को बड़ा टारगेट दिया है। मंडी के पड्डल मैदान में होने वाली राहुल गांधी की रैली में हर मंत्री को 40 से 60 बसें लानी होगी। इसका खर्चा मंत्रियों को स्वयं उठाना होगा। अभी-अभी: कांग्रेस की रैली के लिए मंत्रियों को ‌दिया ये बड़ा टारगेट...
रैली स्थल पर लोगों की भीड़ जुटाने के लिए कुल 600 बसें आएगी। इसके अलावा मंडी में 10 हजार छोटी वाहनों को खड़े किए जाने की व्यवस्था की गई है। ब्लॉक और जिला अध्यक्षों पर भी भीड़ जुटाने की जिम्मेदारी रहेगी। राहुल गांधी का चौपर पड्डल मैदान में करीब सवा 11 बजे उतरेगा। साढ़े 11 बजे रैली शुरू होगी।

उनके साथ कांग्रेस पार्टी के वरिष्ठ नेता आनंद शर्मा भी रहेंगे। गांधी के रैली में 70 हजार लोगों के उमड़ने की उम्मीद जता रही है। रैली को सफल बनाने के लिए पार्टी पदाधिकारियों की ड्यूटियां लगा दी गई हैं। शुक्रवार को सभी मंत्रियों ने अपने विधानसभा क्षेत्र में कांग्रेस कार्यकर्ताओं के साथ बैठकें की।  

राहुल गांधी की रैली को लेकर सुरक्षा एजेंसियां मंडी पहुंच रही हैं। कांग्रेस पार्टी का कहना है कि पड्डल मैदान में एक लाख से ज्यादा लोगों के बैठने की क्षमता है। इस मैदान को दो भागों में बांटा जाएगा।

वीरभद्र के करीबी देखेंगे व्यवस्था का जिम्मा 

मंडी में राष्ट्रीय उपाध्यक्ष राहुल गांधी की रैली की तैयारी और व्यवस्था देखने की जिम्मेवारी मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह के करीबी नेताओं को मिली है। ये जिम्मा पार्टी के प्रदेश उपाध्यक्ष हर्ष महाजन और महासचिव रामलाल ठाकुर को दिया गया है। सुक्खू के करीबी प्रदेश कांग्रेस कमेटी के महासचिव हरभजन सिंह भज्जी और प्रवक्ता संजय सिंह चौहान भी उनके साथ व्यवस्था देखेंगे।

राहुल की रैली को हो रहा सरकारी तंत्र का इस्तेमाल : दत्त 

कांग्रेस राष्ट्रीय उपाध्यक्ष राहुल गांधी की मंडी के पड्डल मैदान में रैली को लेकर भाजपा ने कांग्रेस पार्टी और सरकार को घेरा है। पार्टी के प्रदेश उपाध्यक्ष गणेश दत्त ने कहा कि 7 अक्तूबर को मंडी में कांग्रेस की रैली न होकर वह सरकारी रैली हो रही है।

इसमें पूरा खर्च, साधन, गाड़ियों तथा हिमाचल पथ परिवहन निगम की बसों को मुफ्त यात्रा के लिए लगाया जा रहा है। कहा कि सरकारी सूत्र बता रहे हैं कि सभी मंत्रियों, चेयरमैनों, वाइस चेयरमैनों तथा सरकारी सुविधा प्राप्त व्यक्तियों को सरकारी गाड़ियों में भीड़ लाने के लिए कहा गया है।

कहा कि भाजपा को यह सूचना है कि हिमाचल पथ परिवहन निगम की बसों का भुगतान नहीं किया जा रहा है। सारा खर्च सरकारी खाते में डाला जा रहा है। कहा कि कांग्रेस ने रैली का नाम विकास से विजय की ओर रखा है।

वास्तव में सरकार के 5 वर्ष पूरी तरह विफल और विकास विहीन रहे हैं, इसलिए रैली का नारा विश्वासघात से पराजय की ओर रखना चाहिए, तब जाकर रैली की सार्थकता सिद्ध होगी। 

रैली को लेकर वीरभद्र, सुक्खू, महाजन ने की मंत्रणा  

शुक्रवार दोपहर तीन बजे सीएम वीरभद्र सिंह ने प्रदेश प्रभारी सुशील कुमार शिंदे, सह प्रभारी रंजीता रंजन के साथ पड्डल मैदान का जायजा लिया। इसके बाद सर्किट हाउस में सीएम ने प्रदेश अध्यक्ष सुखविंद्र सुक्खू और वरिष्ठ उपाध्यक्ष हर्ष महाजन से गुप्त मंत्रणा की। चर्चा रही कि राहुल के दौरे से पहले दूरियों पाटने की कोशिश की गई।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की बिलासपुर रैली के चार दिन बाद कांग्रेस के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष राहुल गांधी हिमाचल की छोटी काशी मंडी आ रहे हैं। राष्ट्रीय उपाध्यक्ष राहुल गांधी दोपहर करीब 12 बजे रैली स्थल पड्डल मैदान पहुंचेंगे। 

लगभग डेढ़ घंटे तक रहेंगे। रैली में वह मोदी सरकार पर हमला बोलने के साथ प्रदेश कांग्रेस को चुनाव में एकजुटता से उतरने का संदेश दे सकते हैं। सुबह 10 बजे से भीड़ जुटना शुरू हो जाएगी। 11 बजे के बाद रैली स्थल के गेट बंद कर दिए जाएंगे। 

संगठन नहीं, सरकार की रैली : वीरभद्र  

पड्डल मैदान में रैली की तैयारियों का जायजा लेने पहुंचे सीएम वीरभद्र सिंह ने कहा कि राहुल की रैली संगठन नहीं, सरकार की है। उन्होंने स्टेज पर खुद माइक पकड़ कर साउंड सिस्टम चेक किया।

You May Also Like

English News