अभी-अभी: गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने दिया बड़ा बयान, कहा- CM योगी को ‌दें थोड़ा वक्त, मिलेंगे बेहतर नतीजे…

केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह कहते हैं कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ पूरी संवेदनशीलता से बेहतर काम कर रहे हैं। लगातार मेहनत कर रहे हैं। यह सही है कि कानून-व्यवस्था को लेकर भाजपा सरकार की चुनौती पूरी तरह समाप्त नहीं हुई है, पर विश्वास रखें। कुछ वक्त लगेगा। प्रदेश सरकार जनता की इस कसौटी पर भी खरा उतरकर दिखाएगी। सीमा पर घुसपैठ और आतंकियों की सक्रियता के सवाल पर कहा कि यह उनके खुद के लिए चुनौती है।अभी-अभी: गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने दिया बड़ा बयान, कहा- CM योगी को ‌दें थोड़ा वक्त, मिलेंगे बेहतर नतीजे...अभी-अभी: मोदी ने अपने मंत्रियों को को किया सतर्क, बोले- आज से 5 स्टार होटलों में ठहरना बंद, और न ले PSU सुविधाएं

पर, जिस तरह दुनिया भर से इन मुद्दों पर भारत को हर तरह का समर्थन व सहयोग बढ़ रहा है, उसे वह बड़ी ताकत के रूप में देखते हैं। राजनाथ का मानना है कि पाकिस्तान व चीन कूटनीतिक तौर पर परास्त हो रहे हैं। गृहमंत्री से शनिवार को यहां ‘अमर उजाला’ ने प्रदेश और देश से जुड़े प्रमुख मुद्दों पर बात की। प्रस्तुत हैं प्रमुख अंश …

सवल- प्रदेश में विपक्षी दल कानून-व्यवस्था को मुद्दा बना रहे हैं, बतौर राजधानी के सांसद आप कितने संतुष्ट हैं?

जवाब- मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और उनकी सरकार इस मुद्दे पर ईमानदारी से काम कर रही है। पहले की सरकारों के मुकाबले घटनाएं कम हुई हैं। यह बात ठीक है कि कुछ घटनाओं ने इस मुद्दे पर जनता और सरकार को अभी पूरी तरह निश्‍चिंत नहीं होने दिया है। पर, सरकार की ईमानदारी पर सवाल नहीं उठाया जा सकता। कुछ वक्त और लगेगा लेकिन स्थितियां पूरी तरह ठीक हो जाएंगी। सरकार को अभी चार महीने पूरे हुए हैं। लगभग 14 साल से बिगड़ी व्यवस्था को ठीक करने के लिए चार महीने का वक्त काफी कम है। योगी सरकार को कुछ वक्त और दें, कानून-व्यवस्था पर बेहतर नतीजे दिखाई देंगे।

गोरखपुर हादसे में हो रही है दो‌षियों की पहचान 

सवाल- गोरखपुर में बच्चों की मौत पर सरकार के प्रारंभिक कदमों पर कई सवाल उठे? आप कैसे देखते हैं?

जवाब- घटना बहुत दुखद है। सभी संबंधित परिवारों के साथ भाजपा की और केंद्र व प्रदेश सरकार की पूरी संवेदना है। इस पर राजनीति नहीं होनी चाहिए। न सिर्फ प्रदेश सरकार बल्कि केंद्र सरकार भी वे सारे कदम उठा रही है जिससे भविष्य में इस तरह की दुखद घटनाएं न हों। एक भी मौत हमारे लिए चिंता का विषय है। प्रदेश सरकार दोषियों की पहचान कर रही है। सभी को कठोर सजा मिलेगी।

भाजपा जो कहती है, वह करती है। किसानों की कर्जमाफी इसका प्रमाण है। भाजपा ने पूर्वांचल में स्वास्थ्य सुविधाओं की हर आदमी को सुलभता की बात कही है तो वह पूरी होगी। हमने वादा किया था कि प्रदेश में भाजपा की सरकार बनने पर कैबिनेट की पहली बैठक में ही कर्जमाफी का फैसला किया जाएगा। वैसा ही किया गया।

सवाल- घाटी में अनुच्छेद 35 (ए) को लेकर महबूबा मुफ्ती आपसे दिल्ली में मिली थीं, क्या बात हुई?

जवाब- मामला न्यायालय में है। इसलिए सार्वजनिक रूप से इस पर कुछ नहीं कहा जा सकता। पर, जो उचित और संविधान सम्मत होगा, सरकार की तरफ से सर्वोच्च न्यायालय में वैसा ही पक्ष रखा जाएगा।

‘सरकार की कोशिशों से आतंकियों की कमर टूटने लगी है’ 

सवाल- टेरर फंडिंग रोकने के लिए कश्मीर में एनआईए की कार्रवाई कितनी कारगर रही?

जवाब- काफी सफल रही है। कई गिरफ्तारियां हो चुकी हैं। आतंकियों और पत्थरबाजों को कैसे-कैसे किस तरह आर्थिक मदद की जा रही है, इसकी जानकारी सामने आ रही है। कार्रवाई अभी चल रही है। उचित समय पर इस मामले में सारे तथ्य सार्वजनिक किए जाएंगे। पर, सरकार के इस कदम से आतंकियों की कमर टूटने लगी है। सरकार की नीति स्पष्ट है कि देश की आंतरिक या बाह्य सुरक्षा से कोई समझौता नहीं होगा। सरकार का संकल्प 2022 तक देश को आतंकवाद और नक्सलवाद से मुक्त करने का है। यह पूरा होगा।

सवाल- पर, सीमाओं पर घुसपैठ बढ़ी है। पाकिस्तान की तरफ से कश्मीर के जरिये देश में घुसपैठ हो ही रही थी। अब चीन ने डोकलम और उत्तराखंड की तरफ से भी सीमाओं पर छेड़छाड़ शुरू कर दी।

जवाब- देश की संप्रभुता से समझौता करने का कोई सवाल ही नहीं है। हमारे सैनिक पूरी मुस्तैदी से सीमाओं की रखवाली कर रहे हैं। किसी के इरादे सफल होने वाले नहीं। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में शुरू किए गए कूटनीतिक प्रयास के भी असर दिखने शुरू हो गए हैं। दुनिया में भारत का पक्ष लगातार मजबूत हो रहा है। पूरा भरोसा है कि कूटनीतिक प्रयासों के सार्थक परिणाम आएंगे।

loading...

You May Also Like

English News