अभी अभी: ज़ोन नोटिफिकेशन मामले में BJP की हुई बड़ी जीत, विपक्ष ने कहा….

पिछले लंबे वक्त से अटके पड़े नॉर्थ एमसीडी के ज़ोन नोटिफिकेशन के मामले में बीजेपी शासित एमसीडी की बड़ी जीत हुई है. एमसीडी ने जो प्रस्ताव बना कर दिल्ली सरकार के पास भेजा था उसे बुधवार को एलजी ने हरी झंडी दे दी.अभी अभी: ज़ोन नोटिफिकेशन मामले में BJP की हुई बड़ी जीत, विपक्ष ने कहा....दिल्ली हाईकोर्ट में आज इंटरनेट कंपनियों से ब्लू व्हेल गेम का लिंक हटाने का होगा बड़ा फैसला…

इसकी जानकारी खुद उपराज्यपाल अनिल बैजल ने बुधवार दोपहर ट्वीट कर के दी. एलजी द्वारा नए ज़ोन की फाइल पर मुहर लगाए जाने के बाद नॉर्थ एमसीडी में केशवपुरम नाम से नया ज़ोन बनेगा. हालांकि नॉर्थ एमसीडी में पहले की ही तरह 6 ज़ोन ही रहेंगे क्योंकि सदर पहाडग़ंज और सिटी ज़ोन को जोड़ कर सिटी सदर पहाडग़ंज ज़ोन बनाया जाएगा. नए नोटिफिकेशन के बाद अब कुछ ज़ोन में वॉर्ड कम होंगे तो किसी में ज़्यादा. मसलन करोल बाग ज़ोन में जहां पहले 15 वार्ड थे तो अब उसमें 13 वार्ड ही बचे हैं. इसी तरह सदर पहाड़गंज ज़ोन और सिटी ज़ोन में जहां पहले 15 वार्ड होते थे, तो वहीं अब इसमें 13 वार्ड बचे हैं.  नरेला वार्ड में पहले 10 वार्ड थे जो अब बढ़कर 16 हो गए हैं.  सिविल लाइंस ज़ोन में 30 की जगह 18 वार्ड बचे हैं तो वहीं रोहिणी ज़ोन में 34 की जगह 26 वार्ड रहेंगे.  नए बने केशवपुरम ज़ोन में 18 वार्डों को रखा गया है.  

आपको बता दें कि एमसीडी चुनाव के समय दिल्ली चुनाव आयोग ने परिसीमन किया था जिसके बाद सिटी और सदर पहाडग़ंज ज़ोन में वार्ड की संख्या काफी कम रह गई थी और रोहिणी ज़ोन में जरूरत से ज्यादा वार्ड आ गए थे. वार्ड की संख्या की अनमियताओं के चलते नार्थ एमसीडी ने दिल्ली सरकार के पास नए ज़ोन बनाने और पुराने दो ज़ोन के क्लब करने का प्रस्ताव भेजा था. प्रस्ताव 5 जून को पहली बार भेजा गया था. बीजेपी लगातार इसमें देरी के लिए दिल्ली सरकार पर राजनीति की आरोप लगा रही थी. अब एलजी की मुहर लगने के बाद आम आदमी पार्टी ने बीजेपी पर कटाक्ष करते हुए कहा कि बीजेपी कम से कम अब तो काम करे. नॉर्थ एमसीडी में नेता विपक्ष राकेश कुमार ने कहा कि बीजेपी के मन मुताबिक ज़ोन नोटिफाई हो चुके हैं और उम्मीद है कि बीजेपी अब कोई बहाना नहीं बनाएगी और काम करेगी.  

कमिश्नर पीके गुप्ता के मुताबिक नए ज़ोन बनने से निगम की आर्थिक स्थिति में कोई फर्क नहीं पड़ेगा क्योंकि जिन दो ज़ोनों को जोड़ा गया है उसके स्टाफ को नए ज़ोन में भेजा जाएगा. 

You May Also Like

English News