अभी-अभी: टीम इंडिया के पूर्व कप्तान ने अपने क्रिकेट करियर को लेकर दिया बड़ा बयान….

टीम इंडिया के दिग्गज बल्लेबाज और पूर्व कप्तान राहुल द्रविड़ ने हाल ही में अपने क्रिकेट करियर को लेकर बेहद ही भावुक संदेश दिया है। दरअसल, राहुल द्रविड़ ने हाल ही में हुए एक इवेंट के दौरान अपने अनुभव को साझा करते हुए जिंदगी में सफलता और असफलता को लेकर बयान दिया है। अभी-अभी: टीम इंडिया के पूर्व कप्तान ने अपने क्रिकेट करियर को लेकर दिया बड़ा बयान....

Team India: ICC ने वनडे व टी-20 के लिए भारतीय महिला क्रिकेट टीम का किया ऐलान!

टीम इंडिया के पूर्व कप्तान रहे राहुल द्रविड़ ने अपनी निजी राय रखते हुए कहा कि हमारे समय की बात की जाए तो एक अर्धशतकीय पारी किसी भी बल्लेबाज के लिए हमेशा से अच्छा स्कोर माना गया है। क्रिकेट के सभी फॉर्मेट में मैंने 604 पारियां खेली हैं, जिसमें मैंने 410 पारियों में 50 से ऊपर रन नहीं बनाये। मैं अपने क्रिकेट करियर में सफल होने के मुकाबले कई बार असफल हुआ हूँ। मैंने सफलता से ज्यादा असफलता का सामना किया है और इसलिए मैं असफलताओं के मुद्दे पर ज्यादा बातचीत कर सकता हूँ। 

राहुल द्रविड़ ने अपने साथी खिलाड़ी और क्रिकेट के भगवान माने जाने वाले महान बल्लेबाज सचिन तेंदुलकर के आंकड़े भी पेश किए। इस दौरान उन्होंने कहा कि मैं अपने दौर के सबसे बेहतरीन बल्लेबाज सचिन की बात करूँ, तो उन्होंने अपने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट करियर में 100 शतक लगाए हैं, लेकिन उन्होंने अपने क्रिकेट करियर में 781 पारियों में 517 बार भी 50 से ऊपर रन नहीं बनाये। उनके जीवन में भी सफलता के मुकाबले असफलता ज्यादा हाथ लगी है।  

द्रवीड़ ने कहा कि मैंने हमेशा से क्रिकेट महान खिलाड़ियों और दूसरे खेलों के खिलाड़ियों से भी यही सीखा है कि जिंदगी में असफलता के प्रति हमारा बर्ताव कैसा रहता है और ये सभी खिलाड़ी असफलताओं को अच्छे से समझते हैं। द्रवीड़ का यह भावुक संदेश खासकर युवाओं के लिए प्रेरित करने वाला है।  

द्रवीड़ का कहना है कि जीवन में हमें हमेशा असफलता ही ज्यादा हाथ लगती है, जबकि सफलता हमें कभी-कभी प्राप्त होती है। इसलिए हमें हमेशा असफलताओं से सीखना चाहिए और उनसे अच्छे से रू-ब-रू होना चाहिए।

You May Also Like

English News