अभी अभी: नेशनल कांफ्रेंस ने कहा-कैमरे पर कबूल नामा कोई ठोस सबूत नहीं

आज तक द्वारा ऑपरेशन हुर्रियत के बड़े खुलासे पर पहली बार चुप्पी तोड़ते हुए नेशनल कांफ्रेंस के विधायक ने कहा कि कैमरे पर अलगाववादियों का कबूल नामा कोई ठोस सबूत नहीं है. नेशनल कॉन्फ्रेंस के कश्मीर के गांदरबल से विधायक शेख अशफाक जब्बार ने आज तक द्वारा अलगाववादियों के पाकिस्तान से पैसे लेने के खुलासे पर और इसी मामले में एनआईए द्वारा जांच शुरू किए जाने के सवाल पर जवाब देते हुए आजतक के स्टिंग ऑपरेशन पर ही सवाल उठा दिए.अभी अभी: नेशनल कांफ्रेंस ने कहा-कैमरे पर कबूल नामा कोई ठोस सबूत नहींपीएम मोदी के मेक इन इंडिया के नाम पर बनाई फर्जी वेबसाइट,चार लोगो को किया गिरफ्तार

विधायक जब्बार ने सवालों का सीधे-सीधे जवाब नहीं देते हुए यहां तक कह दिया कि आजकल आवाज के साथ भी काट-छांट होती है. आजतक के ऑपरेशन हुर्रियत में बड़े खुलासे के बाद एनआईए ने हुर्रियत नेताओं और पाकिस्तान के आतंकी सरगना हाफिज सईद के खिलाफ FIR कर कश्मीर के अलगाववादियों और पाकिस्तान के आतंकियों के बीच पैसों के लेन-देन के मामले में जांच भी शुरू कर दी है.

पिछले दिनों एनआईए ने जम्मू-कश्मीर, दिल्ली और हरियाणा में कई जगहों पर छापेमारी कर इस पूरे मामले में सबूत भी जुटाए हैं. इस पूरे मामले पर नेशनल कॉन्फ्रेंस लगातार चुप्पी बनाए हुए है. नेशनल कांफ्रेंस के विधायक जब्बार से आज तक ने उमर अब्दुल्ला की चुप्पी पर जब सवाल पूछा तो उनका जवाब था कि उमर अब्दुल्ला जम्मू-कश्मीर को देखने के लिए हैं न कि कुछ लोगों पर बयान देने के लिए.

 नेशनल कॉन्फ्रेंस के गांदरबल के विधायक शेख जब्बार ने कहा कि अगर अलगाववादियों ने पाकिस्तान से पैसे लिए है तो उसकी जांच होनी चाहिए और इससे पहले कुछ भी बोलना सही नहीं है. इतना ही नहीं उमर अब्दुल्ला के विधायक जब्बार कश्मीर में जवानों पर पत्थर फेंकने वाले पत्थरबाजों के भी समर्थन में खड़े हो गए और कहा कि ऐसा क्यों हो रहा है

कि कश्मीर में पढ़ा लिखा और अच्छे घरों से आने वाला युवा भी हाथ में पत्थर पकड़ रहा है. इतना ही नहीं कॉन्फ्रेंस के विधायक की मानें तो उन पत्थरबाजों से सरकार को बातचीत करनी चाहिए. खुद नेशनल कॉन्फ्रेंस के नेता और जम्मू-कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री उमर अब्दुल्ला भी आजतक के सवालों से बचते रहे और सवालों का जवाब दिए बिना ही अपने घर से निकल गए.

You May Also Like

English News