बड़ी खबर: नोट नहीं बदले तो अनाथ बच्ची की शादी के लिए 50 हजार की FD करवाएंगे सांसद

मां और पिता की मृत्यु के बाद बेसहारा हुए दोनों भाई बहन के मकान में मिले पुराने नोटों के मामले में रविवार को कोटा बूंदी सांसद ओम बिरला मधु स्मृति संस्थान रंगबाड़ी पहुंचे।

सांसद ने बेसहारा बच्चों सूरज व सलोनी से बातचीत की। इसमें उन्होंने बच्चों की पढ़ाई की वर्तमान स्थित और पुराने नोट बदलने पर उनका क्या करेंगे आदि चीजों की जानकारी ली। सूरज ने बिरला से कहा कि वह अपनी छोटी बहिन के नाम एफडी करवाएंगे। ताकि आगे की पढ़ाई में यह पैसा काम आ सके। 
इसके अलावा सूरज और सलोनी की मदद को लोगों के हाथ बढ़ने लगे हैं। कोटा बूंदी सांसद ओम बिरला ने रविवार को रंगबाड़ी के मधु स्मृति संस्थान में रह रहे इन बच्चों से मुलाकात कर उनकी परेशानी जानी। सांसद ने बच्चों को आश्वासन दिया कि वह पहले तो पुराने नोट बदलवाने की कोशिश करेंगे और यदि यह काम नहीं हुआ तो वह खुद उनके नाम 50 हजार रुपए की एफडी करवाएंगे। इतना ही नहीं सांसद ने जनसहयोग से दोनों बच्चों की पढ़ाई का खर्च उठाने के साथ ही सलोनी की शादी करवाने का भी आश्वासन दिया है। 
इसके बाद बिरला ने बच्चों को आश्वासन दिलाया कि वह उनके पुराने नोटों को विशेष केस बनवाकर बदलवा देंगे। मीडिया से बाचतीत में बिरला ने बताया कि वे बच्चों के घर मिले पुराने नोटों को विशेष केस बनवाकर बदलवाने का प्रयास करेंगे। ऐसा नहीं होने पर जनसहयोग से सलोनी के नाम पर 50 हजार रुपए की एफडी करवाएंगे। साथ ही दोनों बच्चों की पढ़ाई और बच्ची की शादी का खर्चा भी जनसहयोग से करवाएंगे। 
इसके पहले बच्चे प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को इन बच्चों के लिए पत्र लिख चुके है। साथ ही बाल कल्याण समिति ने शनिवार को वित्त मंत्रालय और आरबीआई गवनज़्र को ऑनलाइन परिवेदना से शनिवार को नोट बदलवाने की गहार लगाई है। गौरतलब है कि राजस्थान पत्रिका ने इस मामले को 25 मार्च के अंक में उठाया था। इसके बाद कोटा दक्षिण के विधायक संदीप शर्मा और पूर्व मंत्री शांति धारीवाल ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को पत्र लिख कर बच्चों की पुरानी रकम बदलवाने की गुहार लगाई थी।

You May Also Like

English News