अभी अभी: पाकिस्तान की मस्जिद पर हुआ बड़ा हमला..

कहते हैं ना पाप का घड़ा जल्द ही भरता है, वो पाकिस्तान के लिए सच साबित हो रहा है।पाकिस्तान के अल्पसंख्यक शिया बहुल पारचिनार कबायली इलाके में भीड़-भाड़ वाले एक बाजार में हुए दोहरे विस्फोट में, क्वेटा में मस्जिद पर आत्मघाती हमले की घटना में और कराची में आतंकियों की पुलिस पर गोलीबारी में कम से कम 47 लोगों की मौत हो गई और करीब 100 अन्य घायल हो गए।अभी अभी: पाकिस्तान की मस्जिद पर हुआ बड़ा हमला..BJP को आनन-फानन में याद आए श्यामा प्रसाद मुखर्जी..

इसके बाद पाकिस्तान ने खुफिया विभाग की अगुवाई में आतंकियों के खिलाफ देशभर में सैन्य अभियान शुरु किया है। पाकिस्तानी सेना के प्रवक्ता मेजर जनरल आसिफ गफूर ने कहा कि देश भर में सुरक्षा कड़ी कर दी गई है। बलूचिस्तान प्रांत की राजधानी क्वेटा में पुलिस महानरीक्षक एहसान महबूब के कार्यालय के नजदीक विस्फोटकों से लदी एक कार से किए गए धमाके में सात पुलिसकर्मियों सहित कम से कम 13 लोगों की मौत हो गई और 21 लोग घायल हो गए। यह हमला आत्मघाती हमलावर ने किया।

इस्लामिक स्टेट आतंकवादी समूह और जमात उल अहरार (जेयूए) से जुड़े स्थानीय संगठनों ने विस्फोट का दावा किया है। जेयूए तहरीक-ए-तालिबान पाकिस्तान से अलग होकर बना संगठन है। अधिकारियों ने बताया कि कार बम विस्फोट में सात पुलिसकर्मियों सहित 13 लोगों की मौत हो गई। इससे पहले कुर्म कबायली जिले के शिया बहुल शहर में ईद की खरीदारी कर रहे लोगों से भरे बाजार में जोरदार दोहरे विस्फोट में कम से कम 45 लोगों की मौत हो गई और करीब 75 लोग घायल हो गए।

अधिकारियों ने बताया कि पहला विस्फोट पारचिनार इलाके के तूरी बाजार में हुआ जहां एक बस टर्मिनल भी है। दूसरा विस्फोट तब हुआ जब बचावकर्मियों और आसपास खड़े लोग पहले विस्फोट में घायल हुए लोगों की मदद करने पहुंचे। बहरहाल, इन धमाकों की किसी भी संगठन ने जिम्मेदारी नहीं ली है लेकिन अतीत में सुन्नी आतंकी समूहों ने इलाके में कई हमलों की जिम्मेदारी ली है।

शाम में मोटरसाइकिल पर सवार दो सशस्त्र लोगों ने कराची में सड़क के किनारे एक रेस्तरां में पुलिस अधिकारियों पर गोलीबारी की। इस घटना में चार पुलिस अधिकारी मारे गए। पुलिस अधीक्षक ने बताया कि मरने वालों में सहायक उप निरीक्षक भी है। आपात और बचाव सेवा के कर्मियों ने घायलों को एजेंसी मुख्यालय अस्पताल पाराचिनार में भर्ती कराया।

सुरक्षा बलों ने समूचे इलाके की घेराबंदी कर दी और तलाश अभियान चलाया। पाकिस्तानी सेना टुकड़ी और एफसी कर्मी बचाव अभियान के लिए विस्फोट स्थल पर पहुंचे। सेना ने एक बयान में कहा, ‘ ‘सेना का दो विमान घायलों को जल्दी से पेशावर पहुंचाने के लिए पेशावर से पारचिनार पहुंचा।’ बयान में कहा गया है कि बचाव अभियान जारी है।

 

You May Also Like

English News