अभी-अभी: पूर्व वित्त मंत्री ने मोदी सरकार की ‘ट्वीट नीतियों’ पर उठाए सवाल….

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और पूर्व वित्त मंत्री पी चिदंबरम ने केंद्र सरकार को घेरा है। उन्होंने एक के बाद तीन ट्वीट कर सरकार की कार्यप्रणाली पर ही सवाल उठा दिया है और कहा है कि मैं चकित हूं कि सोशल मीडिया और ट्वीट कब से सरकारी आदेश या अधिसूचना का आधार बन गई है।अभी-अभी: पूर्व वित्त मंत्री ने मोदी सरकार की 'ट्वीट नीतियों' पर उठाए सवाल....लखनऊ -आगरा एक्सप्रेसवे पर सड़क हादसों के चलते सरकार ने लगेगे अब cctv कैमरे….

उन्होंने आगे लिखा कि पिछली रात मैंने एक ट्वीट कर  छोटे बचत पत्रों पर ब्याज दर घटाने और 8 फीसदी के सरकारी बचत बांड को बंद कर दिये जाने पर विरोध दर्ज किया था। आज सुबह मैंने पाया कि सचिव ने एक ट्वीट कर 7.75 फीसदी के ब्याज दर के हिसाब से बांड इश्यू करने का एक ट्वीट किया लेकिन अभी तक इस बारे में एक भी नोटिफिकेशन(सरकारी अधिसूचना) जारी नहीं किया गया है। इस पूरी ट्वीट प्रणाली पर चिदंबरम ने सवाल उठाते हुए कहा कि इस सरकार की कार्यप्रणाली अजीब तरीके की है। 

वहीं सोमवार को भी चिदंबरम ने सरकार की छोटी बचत पर ब्याज दर घटाने को लेकर मोदी सरकार के फैसले की आलोचना की थी, और इसे मध्य वर्ग के लिए बड़ा झटका बताया था। उन्होंने ट्वीट कर कहा कि सरकार का यह कदम मध्य वर्ग के लिए बड़ा झटका है। चिदंबरम ने कहा कि मुद्रास्फीति भी बढ़ रही है, जो मध्य वर्ग पर दोहरी मार है।

You May Also Like

English News