अभी-अभी: बारामूला में मुठभेड़ के दौरान भड़की हिंसा, पथराव के कारण भागने में कामयाब हुए आतंकी

जम्मू कश्मीर के बारामूला जिले के पाटन में सुरक्षाबलों और आतंकियों के बीच मुठभेड़ जारी है। बताया  जा रहा है कि सुरक्षाबलों को बारामूला में आतंकियों के मौजूदगी के खुफिया इनपुट्स मिले थे। जिसके बाद सुरक्षाबलों ने पूरे इलाके को घेर कर आतंकियों की तलाश शुरू कर दी।अभी-अभी: बारामूला में मुठभेड़ के दौरान भड़की हिंसा, पथराव के कारण भागने में कामयाब हुए आतंकीखुद को घिरता हुआ देख आतंकियों ने जवानों पर फायरिंग शुरू कर दी। बताया जा रहा है कि मुठभेड़ में एक स्थानीय आतंकी मोहम्मद युसुफ के भी फंसे होने की उम्मीद है। इस ऑपरेश में बारामुला पुलिस के साथ सीआरपीएफ की 53 बटालियन और सेना की 29 राष्ट्रीय राइफल शामिल है।

दोनों ओर से गोलीबारी लगातार जारी है। एहतियात के तौर पर इलाके में इंटरनेट सेवा बाधित कर दी गई है। इसके अलावा श्रीनगर से बारामुला आने वाली ट्रेन सेवा को भी स्थागित कर दिया गया है। वहीं सूत्रों के हवाले से खबर है कि आतंकी मौके से फरार होने में कामयाब हो गए हैं।

इसके साथ ही इलाके में पत्थरबाजी भी शुरू हो गई है। जिसका फायदा उठा कर आतंकी मौके से फरार हो गए। घाटी में अक्सर आतंकी को भगाने के लिए पत्थरबाजी का सहारा लिया जाता है। 

गौरतलब है कि गुरुवार शाम को दक्षिणी कश्मीर के पुलवामा जिले के पंजगाम अवंतीपोरा में आतंकियों ने सीआरपीएफ के कैंप पर हमलाकर गोलियां बरसाईं। संतरी की ओर से जवाबी कार्रवाई के बाद आतंकी मौके से भाग निकले। 

पुलिस के कश्मीर रेंज के आईजीपी एसपी पाणि ने बताया कि किसी प्रकार का कोई हमला नहीं हुआ है। संतरी ने कोई संदिग्ध हरकत देखते हुए कुछ राउंड फायर किए। इसके बाद इलाके में सुरक्षाबलों द्वारा तलाशी अभियान शुरू किया गया है।

सूत्रों के अनुसार पंजगाम अवंतीपोरा में स्थित सीआरपीएफ के 185 बटालियन के कैंप पर दो से तीन आतंकियों ने वीरवार शाम करीब 8:05 बजे फायरिंग की। हमले की आशंका पर संतरी ने जवाबी फायरिंग की तो आतंकी भाग निकले।

घटना के बाद सेना की 55 राष्ट्रीय राइफल्स, सीआरपीएफ की 130 और 185 बटालियन के साथ-साथ पुलिस के स्पेशल ऑपरेशन ग्रुप द्वारा इलाके की घेराबंदी कर तलाशी अभियान चलाया गया। फायरिंग से इलाके में दहशत की स्थिति रही। 

You May Also Like

English News