अभी-अभी: मंदिरों और स्कूलों के नजदीक शराब के ठेके होंगे बंद

उत्तर प्रदेश का मुख्यमंत्री बनने के बाद से सीए योगी ने एक के बाद एक कई फैसले किए हैं।

 इनमें अलग-अलग विभागों पर उनका ध्यान रहा है। इन सबके बीच सीएम योगी अब शराब पर सख्त नजर आ रहे हैं। इसे संबंधित कई ताजा निर्देशों के साथ मुख्यमंत्री ने नई आबकारी नीति बनाने तक का निर्देश दे दिया है।

बड़ी खबर: पीएम मोदी ने लिया बड़ा फैसला, हर हफ्ते इस दिन बंद रहेंगे पेट्रोल पंप

उच्चतम न्यायालय द्वारा पारित आदेशों का पूरा अनुपालन हो : 
सीएम ने साफ कहा है कि उच्चतम न्यायालय द्वारा पारित आदेशों का पूरा अनुपालन हो। इससे प्रभावित 8 हजार 544 आबकारी दुकानों को शहर के बस्ती, शैक्षणिक संस्थान, धार्मिक स्थलों एवं चिकित्सालयों के पास वाली शराब की दुकानों को बंद किया जाए। धार्मिक स्थलों पर भी शराब को लेकर उन्होंने निर्देश दिए हैं।

लापरवाही होने पर सम्बन्धित अधिकारी दंडित होंगे: 
मुख्यमंत्री ने कहा है कि वृन्दावन, अयोध्या, चित्रकूटधाम, मिश्रिख नैमिषारण्य, पीरान कलियर, देवा शरीफ और देवबन्द के धार्मिक स्थलों में पूर्ण मद्यनिषेध का कड़ाई से अनुपालन हो। साथ ही यह भी कहा है कि लापरवाही होने पर सम्बन्धित अधिकारी दंडित होंगे।

शराब की बिक्री पर लागू प्रतिबन्ध का कड़ाई से अनुपालन सुनिश्चित हो :
इसके साथ ही उन्होंने कहा कि काशी विश्वनाथ मन्दिर, वाराणसी, श्री कृष्ण जन्म स्थल, मथुरा एवं इलाहाबाद में संगम परिधि के चारों ओर एक किलोमीटर की परिधि के अन्तर्गत शराब की बिक्री पर लागू प्रतिबन्ध का कड़ाई से अनुपालन सुनिश्चित हो।
राजस्व वृद्धि के लिए नई आबकारी नीति बनाने की कार्यवाही की जाये
सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा है कि प्रदेश के राजस्व वृद्धि के लिए नई आबकारी नीति बनाने की कार्यवाही की जाए। उनके अनुसार शराब की तस्करी रोकने के साथ-साथ यह सुनिश्चित करायें कि किसी भी स्थान पर जहरीली शराब की कतई बिक्री न होने पाए।
आबकारी विभाग के प्रस्तुतिकरण के दौरान यह निर्देश दिए :
मुख्यमंत्री ने शास्त्री भवन में आयोजित आबकारी विभाग के प्रस्तुतिकरण के दौरान यह निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि संवेदनशील पदों पर निष्ठावान एवं स्वच्छ छवि के अधिकारियों की तैनाती सुनिश्चित कराने हेतु लिस्ट जल्द से जल्द तैयार की जाए।

You May Also Like

English News