अभी-अभी: मुलायम के इस फैसले से सपा कार्यकर्ताओं को लगा बड़ा झटका….

मुलायम के नई पार्टी के गठन से इन्कार के बाद शिवपाल अपने घर में ही कैद रहे। उनके लखनऊ स्थित घर के बाहर इटावा, मैनपुरी के कई कार्यकर्ता तो शिवपाल के घर पर फूट-फूट कर रोए। उन्होंने शिवपाल पर राजनीतिक फैसला लेने का भी दबाव बनाया। इस दौरान शिवपाल कई बार अपने घर से बाहर आए और कार्यकर्ताओं को समझाया। हो सकता है कि शिवपाल जल्द कोई निर्णय लें। हालांकि शिवपाल को मुलायम का यसमैन माना जाता है।अभी-अभी: मुलायम के इस फैसले से सपा कार्यकर्ताओं को लगा बड़ा झटका....अभी-अभी: प्रेस नोट से मुलायम का हुआ बड़ा खुलासा, खोखली नहीं थी नई पार्टी के गठन…

एजेंडा बदला, निशाने पर मोदी-योगी
सूत्रों के मुताबिक नए सियासी विकल्प की रूपरेखा तैयार करने के लिए मुलायम सिंह ने हामी भरी थी। इसका एलान शुक्रवार को होना था। लेकिन रविवार की रात को पूरी योजना ही बदल गई। एक बार तो प्रेस कांफ्रेंस टलने की स्थिति भी आई। लेकिन मुलायम ने प्रेस कांफ्रेंस यथावत रखी हां बस इसका एजेंडा मोदी व योगी के खिलाफ कर दिया। उन्होंने वे ही मुद्दे उठाए जो सपा ने राज्य सम्मेलन उठाए थे।

शिवपाल घर में मुलायम बोले, इटावा गए हैं
प्रेस कॉन्ंफ्रेंस का एजेंडा बदल जाने पर उससे दूरी बनाने वाले शिवपाल सिंह यादव सवेरे से ही घर पर थे। मीडिया कर्मियों ने शिवपाल के बारे में पूछा तो मुलायम ने कहा कि वह इटावा, मैनपुरी गए हैं।
 

नया विकल्प तलाशेंगे शिवपाल
सपा नेतृत्व के निशाने पर चल रहे शिवपाल सिंह अब नया विकल्प तलाशेंगे। इसके लिए उन पर समर्थकों का दबाव भी है। वह दिन में दो बजे मीडिया से बात करना चाहते थे, इसकी सूचना भी भेज दी गई थी लेकिन बाद में इसे स्थगित कर दिया गया। हो सकता है कि वह सेकुलर फ्रंट का नवरात्र के दौरान ही ऐलान कर दें।

You May Also Like

English News