अभी-अभी यूपीएसएसएससी के अध्यक्ष राजकिशोर यादव ने दिया पद से इस्तीफा !

लखनऊ : योगी सरकार की सख्ती का एहसास अब अधिकारियों को भी होने लगा है। यह वजह है कि अब उत्तर प्रदेश अधिनस्थ सेवा चयन आयोग के अध्यक्ष राजकिशोर यादव ने पद से इस्तीफा दे दिया है। इससे पहले यूपीएसएसएससी द्वारा 11 हजार पदों पर होने जा रहीं नियुक्तियों के लिए इंटरव्यू पर रोक लगा दी गई थी। योगी आदित्यनाथ सरकार के गठन के बाद ही राज्यपाल राम नाईक ने सभी न्यू टेंडर भर्ती और इंटरव्यू पर रोक लगा दी थी।

 


इंटरव्यू पर रोक के खिलाफ सोमवार को प्रदेशभर से आए अभ्यर्थियों ने सीएम आवास के बाहर जमकर हंगामा किया था। छात्रों का कहना था भर्ती पर रोक से उनका भविष्य खतरे में पड़ गया है। इंटरव्यू पर रोक के कारण 11 हजार पदों पर होने जा रहीं नियुक्तियों पर फिलहाल रोक लग गई है। बिना सरकार की आज्ञा के ही इन इंटरव्यू की तारीख घोषित कर दी गई थी। अधीनस्थ सेवा चयन बोर्ड के अफसर आनन- फानन में परीक्षाओं को कराने की तैयारी में थे। जिनके लिए 27 मार्च से 10 अप्रैल तक 3 तिथियों में इंटरव्यू लेने की तैयारी की गई थी।
पीएम मोदी चुनाव से पहले अपनी जनसभाओं में ये बात कहा करते थे कि बाबू और चपरासी की नौकरी के लिए इंटरव्यू भ्रष्टाचार का जरिया है और इसकी कोई जरूरत नहीं है। भाजपा की सरकार जैसे ही आएगी साक्षात्कार बंद कर दिए जाएंगे। एमएलसी देवेंद्र प्रताप सिंह ने सीएम योगी आदित्यनाथ को पत्र लिखकर लोक सेवा आयोग में पिछली सरकार के दौरान हुए चयन की जांच करवाने की मांग की है। सीएम योगी आदित्यनाथ ने इससे पहले यूपी लोकसेवा आयोग के अध्यक्ष अनिरुद्ध यादव को तलब किया था।

You May Also Like

English News