अभी-अभी: योगी हुए सख्त अधिकारियों से 15 दिन में मांगा सम्पत्ति का ब्यौरा !

लखनऊ: यूपी के सीएम बननो के बाद योगी आदित्यनाथ ने अधिकारियों के साथ लोकभवन में पहली बैठक की। बैठक में उनके साथ डिप्टी सीएम केशव मौर्य और दिनेश शर्मा भी मौजूद रहे। इस मीटिंग में उन्होंने अधिकारियों को भाजपा का घोषणापत्र सौंपा और उसको पूरा करने के सुझाव मांगे। वहीं सीएम ने अधिकारियों को भी 15 दिन के भीतर अपनी संपत्ति का ब्यौरा देने का फरमान दिया है। बता दें कि इससे पहले वह मंत्रियों से भी सम्पत्ति को ब्यौरा मांग चुके हैं। सीएम के इस फरमान के बाद ब्यौरोक्रेसी में हड़कम्प मच गया है।


वहीं मंित्रमंडल के बंटवारे को लेकर बीजेपी महामंत्री संगठन सुनील बंसल और मुख्यमंत्री ने मंत्रणा की। इसी बीच डिप्टी सीएम केशव मौर्य और दिनेश शर्मा को भी सचिवालय में कमरा दे दिया गया। केशव कोआजम और दिनेश को शिवपाल वाले कमरे में बैठेंगे।  वहीं सीएम आवास 5 केडी पर पूजन हवन के बाद मुख्यमंत्री दोपहर बाद 5 केडी पहुंचे। वहां उन्होंने भूमि पूजन किया और करीब 20 मिनट बाद वहां से वह बैठक के लिए निकल गए। सीएम अभी वह शिफ्ट नहीं हुए हैं। दूसरी ओर राज्यपाल राम नाईक ने नई कैबिनेट को आज शाम को चाय पर बुलाया इस स्वल्पाहार में सीएम आदित्यनाथ के साथ दोनों डिप्टी सीएम व अनय मंत्री भी मौजूद रहे। इसके बाद सीएम आदित्यनाथ लोकभवन पहुंचे और वहां पर उन्होंने प्रदेश के बैठ आईएसएस व आईपीएस अधिकारियों के साथ पहली बैठक की। इस दौरान उन्होंने अधिकारियों को भाजपा को घोषणा पत्र सौपा और घोषणा पत्र के बारे में बताते हुए उसके अनुरूप काम करने की बात कही।

You May Also Like

English News