अभी अभी: रामगढ़ में बीफ के शक में भीड़ ने की हत्या, BJP नेता समेत 3 गिरफ्तार

झारखंड के रामगढ़ में बीफ के शक में भीड़ के हाथों हुई हत्या के आरोप में स्थानीय बीजेपी नेता नित्यानंद महतो को गिरफ्तार किया गया है। सूत्रों के मुताबिक 29 जून को भीड़ के हाथों गोमांसके शक में मारे गए मीट व्यापारी की हत्या के आरोप में दो लोगों को गिरफ्तार किया गया है। महतो ने सफाई देते हुए कहा है कि वे प्रशासन के पहुंच जाने के बाद वहां पहुंचे थे।अभी अभी: रामगढ़ में बीफ के शक में भीड़ ने की हत्या, BJP नेता समेत 3 गिरफ्तारबंडारू दत्तात्रेय बोले- GST से तीन महीने में पैदा होंगी एक लाख नौकरियां

दरअसल, यहां एक भीड़ की पिटाई का एक वीडियो वायरल हो रहा है, जिसमें महतो व अन्य आरोपी भी दिख रहे हैं। इस बीच बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष शिव शकंर बनर्जी से बात करने की कोशिश की गई, लेकिन वे मिल नहीं पाए। हालांकि, यहां के मीडिया सेल इंचार्ज वरुण सिंह ने कहा है कि महतो को झूठे आरोप में फंसाया जा रहा है।

उन्होंने कहा कि जिस वीडियो के आधार पर महतो को धर दबोचा गया है, उसमें वे डीसीपी के साथ खड़े हैं, ऐसे में वे इस हिंसा में कैसे शामिल हो सकते हैं। बता दें कि मीट व्यापारी अलीमुद्दीन अंसारी की भीड़ ने इस शक में हत्या कर दी थी की कि वे गोमांस का व्यापार कर रहे हैं।

15 साल का जुनैद भी बना शिकार

 दिल्ली से मथुरा जा रही एक ट्रेन में 22 जून को एक ऐसी ही वारदात हुई थी। कुछ सिरफिरों ने 15 साल के जुनैद को मौत के घाट उतार दिया। इस आरोप में चार आरोपियों को गिरफ्तार किया गया, जिसमें से दो सरकारी कर्मचारी भी थे। जुनैदी की पोस्टमॉटर्म रिपोर्ट में ये खुलासा हुआ कि मौत चोट लगने से हुए खून रिसाव और समय पर इलाज न मिलने के कारण हुई है।

जुनैद की मौत के बाद ये मामला सुर्खियों में बन गया और बीजेपी सरकार को फिर सवालों के घेरे में आना पड़ गया। विपक्ष के विरोध के बाद खुद पीएम मोदी को एक रैली में गौरक्षकों को नसीहत देनी पड़ी कि वे गौरक्षा के नाम पर कानून को अपने हाथ में न लें। साथ ही केंद्रीय मंत्री वेकैंया नायडू ने भी भीड़ के हाथों होने वाली हत्याओं पर नाराजगी जाहिर की।

You May Also Like

English News