अभी-अभी: राम रहीम की ‘दुलारी’ हनीप्रीत को लेकर सामने आई ये नई जानकारी….

28 दिन से गायब राम रहीम की ‘दुलारी’ हनीप्रीत को लेकर अब एक नई जानकारी सामने आई है, वहीं एक बार फिर पुलिस को चकमा देने में वह कामयाब हो गई। अभी-अभी: राम रहीम की 'दुलारी' हनीप्रीत को लेकर सामने आई  ये नई जानकारी....

अभी-अभी: MCD की जांच में हुआ बड़ा खुलासा, बन रहे है फर्जी जन्म-मृत्यु प्रमाण पत्र…

25 अगस्त को राम रहीम को रोहतक जेल छोड़ने के बाद हनीप्रीत सिरसा डेरे में गई, पर वहां से बच निकली। लुकआउट नोटिस जारी हुआ और हनीप्रीत को पकड़ने के लिए तलाशी शुरू हुई। लोकेशन राजस्थान में मिली, पर कोई सुराग नहीं लगा। नेपाल में छिपने की बात आई, विराटनगर में देखी गई। लेकिन वहां से भी भाग निकली। अब खबर आई कि हनीप्रीत राम रहीम के गांव गुरुसर मोडिया में छिपी है। पुलिस पकड़ने के लिए पहुंची, लेकिन चकमा देकर भाग गई। 

हनीप्रीत लगातार पुलिस को छका रही है। वीरवार को श्रीगंगानगर के गुरू सरमोड़िया से भी हरियाणा पुलिस को खाली हाथ लौटना पड़ा। लुक आउट नोटिस जारी होने से महज एक दिन पहले अगर हनीप्रीत राजस्थान में थी तो कुछ घंटों के दौरान आखिर किसने हनीप्रीत को फरार कराने में मदद की, पुलिस इस गुत्थी को सुलझाने में जुटी हुई है। वीरवार को श्रीगंगानगर में सर्च के दौरान तमाम ठिकानों पर छापेमारी की गई, लेकिन आरोपी का सुराग नहीं मिल सका। 

हनीप्रीत की तलाश में हरियाणा, पंजाब, राजस्थान, उत्तर प्रदेश, बिहार और नेपाल की पुलिस भी जुटी हुई है। उसके एक रिश्तेदार ने भी बताया कि 28-29 अगस्त को हनीप्रीत हनुमानगढ़ में थी। 30 अगस्त को हनीप्रीत के खिलाफ लुक आउट जारी किया गया और वह वहां से भाग गई। वीरवार को उसकी लोकेशन राम रहीम के गांव गुरुसर मोडिया में मिली तो तीन थानों की पुलिस मौके पर पहुंची। 

करीब पांच घंटे तक पूरे गांव और राम रहीम के घर में सघन तलाशी अभियान चलाया गया, लेकिन हनीप्रीत के बारे में कुछ भी पता नहीं चला। वीरवार को हरियाणा पुलिस और गुप्तचर एजेंसियों को सूचना मिली कि हनीप्रीत राम रहीम के पैतृक गांव गुरुसर मोड़िया में हो सकती है। यहां बाबा के घर को ही आलीशान डेरे के रूप में परिवर्तित किया जा चुका है। जिसमें गुरमीत की पत्नी, मां और अन्य सदस्य रहते हैं।

बाबा के गांव में पूर्व गद्दीनशीन शाह सतनाम सिंह के नाम पर गर्ल्स कॉलेज और गर्ल्स हॉस्टल भी बना हुआ है। इन्हीं स्थानों पर हनीप्रीत के छुपे होने की सूचना मिलते ही सिरसा, पंचकूला सहित राजस्थान के रावला मंडी, सूरतगढ़ और मंडी गोलूवाला पुलिस थानों से भारी पुलिस बल सुबह करीब 11 बजे गुरुसर मोड़िया पहुंच गया।  पुलिस ने मीडिया कर्मियों सहित किसी को भी राम रहीम के घर के पास फटकने नहीं दिया।
थाना सूरतगढ़ के प्रभारी नारायण सिंह और गोलूवाला पुलिस के प्रभारी बूटा सिंह की देखरेख में जैसे ही पुलिस ने बाबा के घर सहित गर्ल्स कॉलेज और हॉस्टल की तलाशी शुरू की तो मीडिया सहित बड़ी संख्या में ग्रामीणों की भीड़ भी जमा हो गई। महिला और पुरुष पुलिस कर्मियों ने कॉलेज के हर कमरे से लेकर हॉस्टल का एक-एक कमरा और बाथरूम तक में तलाशी ली। 
गुरमीत सिंह के घर के बेडरूम, तख्तपोश और अलमारियों को भी खंगाला गया, लेकिन हनी के बारे में कोई सुराग नहीं मिला। पुलिस अधिकारियों ने इस दौरान गुरमीत सिंह की माता और पत्नी से कहा कि अगर हनीप्रीत के बारे में कोई सूचना मिले तो तुरंत पुलिस को सूचित करें। शाम करीब 4 बजे तक चले इस तलाशी अभियान के बाद पुलिस को खाली हाथ लौटना पड़ा।

You May Also Like

English News