अभी-अभी: राम रहीम की ‘लाडली’ का सामने आया एक ऐसा बड़ा सच, जिससे जानकर उड़ जायेंगे आपके होश

आखिरकार खुलासा हो ही गया कि राम रहीम की ‘दुलारी’ हनीप्रीत ने ही पंचकूला को जलवाया था। जानिए कैसे ये सच दुनिया के सामने लाया गया। अभी-अभी: राम रहीम की 'लाडली' का सामने आया एक ऐसा बड़ा सच, जिससे जानकर उड़ जायेंगे आपके होश

अभी-अभी आई बुरी खबर: पूर्व रक्षामंत्री एके को हुआ ब्रेन हैमरेज, अस्पताल में तुरंत कराया भर्ती

आखिरकार हनीप्रीत का चेहरा बेनकाब हो ही गया। 25 अगस्त को पंचकूला की सीबीआई अदालत में गुरमीत राम रहीम के खिलाफ फैसला सुनाए जाने के बाद हनीप्रीत पंचकूला में दंगा और आगजनी करवाकर गुरमीत राम रहीम को लेकर विदेश जाने के प्लानिंग में थी। इसका खुलासा उसने खूद अपने कबूलनामे में किया है। 

कबूलनामे के मुताबिक हनीप्रीत ने पंचकूला हिंसा और गुरमीत राम रहीम को फरार करवाने की साजिश रचने का जुर्म कबूल कर लिया है। पुलिस को दिए गए अपने बयान में हनीप्रीत ने कहा है कि उसने हिंसा, आगजऩी, तोड़फोड़ और खून-खराबा इसलिए करवाया था, ताकि पुलिस का ध्यान गुरमीत से हट जाए। 

हनीप्रीत ने बताया कि वह बाबा को लेकर नेपाल के रास्ते किसी और देश में जाना चाहती थी। हिंसा में शामिल डेरा समर्थकों ने पुलिस और सुरक्षा बलों पर हमला बोलने का प्लान भी हनीप्रीत ने ही बनाया था। हनीप्रीत ने ही डेरे में मौजूद समर्थकों को हथियार और लाठियां, डंडे, डीजल और पेट्रोल मुहैया करवाया गया था।
 बता दें कि हनीप्रीत का कबूलनामा पुलिस ने 15 अन्य आरोपियों के खिलाफ दायर की गई 1200 पेज की चार्जशीट के साथ कोर्ट में पेश किया। मामले में हनीप्रीत को ही मुख्य आरोपी बनाया गया है। चार्जशीट में हनीप्रीत पर गंभीर आरोप हैं। इसके अलावा राम रहीम और डेरे के 6 सुरक्षाकर्मियों का भी जिक्र है।
 मामले में कुल 67 लोगों को गवाह बनाया गया है। हनीप्रीत इस समय देशद्रोह के आरोप में अंबाला जेल में बंद है। राम रहीम के दो करीबी डॉ. आदित्य इंसा और महेंद्र इंसा अभी भी फरार हैं।
 गौरतलब है 25 अगस्त को साध्वी रेप केस में राम रहीम को दोषी करार दिए जाने के बाद पंचकूला में बड़े पैमाने पर हिंसा हुई थी, जिसमें कई लोग मारे गए। हिंसा की आग हरियाणा, पंजाब, यूपी और दिल्ली तक पहुंच गई थी। इन राज्‍यों में डेरा समर्थक जहां-तहां बसों, रेलवे स्‍टेशनों व अन्‍य सरकारी संपत्ति‍यों को जला रहे थे।

You May Also Like

English News