अभी-अभी: राहुल गांधी से मुलाकात के बाद CM वीरभद्र स‌िंह ने पार्टी में किया ये बड़ा बदलाव..

कांग्रेस के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष राहुल गांधी से मुलाकात के बाद शिमला पहुंचते ही मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह ने संगठन स्तर पर बड़ा बदलाव किया है। सीएम ने शिमला ग्रामीण कांग्रेस अध्यक्ष रितेश कपरेट को पद से हटवा दिया है।अभी-अभी: राहुल गांधी से मुलाकात के बाद CM वीरभद्र स‌िंह ने पार्टी में किया ये बड़ा बदलाव..अभी-अभी: सपा पार्टी की महिला प्रवक्ता को मिली रेप की धमकी, चारो तरफ मचा हडकंप…

रितेश कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष सुखविंद्र सिंह सुक्खू के करीबी माने जाते हैं। शिमला ग्रामीण विस क्षेत्र से विक्रमादित्य के चुनाव लड़ने का एलान करने के बाद हुई इस उठापटक से सियासी माहौल गर्मा गया है। अब मुख्यमंत्री के करीबी और हिमुडा के उपाध्यक्ष यशवंत छाजटा को शिमला ग्रामीण कांग्रेस की कमान सौंपी गई है।

सीएम बीते शुक्रवार को ही राहुल गांधी से बात करके दिल्ली से लौटे हैं। दिल्ली में उन्होंने इस बात पर नाराजगी जताई कि प्रदेश अध्यक्ष ने बिना उनकी सलाह लिए कई जिलों के अध्यक्ष बना दिए। वे शिमला ग्रामीण से विधायक हैं और उन्हें पता तक नहीं कि वहां सुक्खू ने किसे जिला कांग्रेस अध्यक्ष बना दिया।

अब तो वे शिमला ग्रामीण से अपने बेटे को चुनाव लड़ाने का एलान कर चुके हैं। सीएम के दिल्ली से लौटने के बाद शिमला ग्रामीण कांग्रेस अध्यक्ष रितेश कपरेट को पद से हटाने का प्रेसनोट जारी कर दिया गया। रितेश कपरेट को अध्यक्ष पद से हटाए जाने के बाद संगठन में खूब चर्चा हो रही है। 
 
प्रदेश कांग्रेस कमेटी मीडिया विभाग के अध्यक्ष नरेश चौहान ने बताया कि यशवंत छाजटा को जिला कांग्रेस कमेटी शिमला ग्रामीण का जिला अध्यक्ष नियुक्त किया गया है।  यशवंत छाजटा जुब्बल कोटखाई विधानसभा क्षेत्र के जुब्बल से संबंध रखते हैं। कांग्रेस प्रवक्ता ने बताया कि  छाजटा की नियुक्ति तत्काल प्रभाव से लागू मानी जाएगी

विक्रमादित्य के खिलाफ चुनाव लड़ चुके हैं रितेश 

रितेश कपरेट ने युवा कांग्रेस के चुनावों में विक्रमादित्य सिंह के खिलाफ अध्यक्ष पद का चुनाव लड़ा था। विक्रमादित्य सिंह के युवा कांग्रेस अध्यक्ष बनने के बाद पार्टी अध्यक्ष सुखविंद्र सिंह सुक्खू ने प्रदेश कांग्रेस सचिव रितेश कपरेट को शिमला ग्रामीण कांग्रेस का कार्यकारी अध्यक्ष नियुक्त कर दिया था।

बताया जा रहा है कि कपरेट की यह नियुक्ति मुख्यमंत्री को पहले दिन से ही खटक रही थी। अब बेटे को चुनाव मैदान में उतारने की पूरी तैयारी करने के बाद मुख्यमंत्री ने बड़ा दांव खेलते हुए सबसे पहले अपने करीबी को शिमला ग्रामीण विधानसभा क्षेत्र में पार्टी की कमान दिलाई है। रितेश कपरेट से पहले प्रकाश ठाकुर शिमला ग्रामीण कांग्रेस के अध्यक्ष थे। प्रकाश ठाकुर को केहर सिंह खाची की जगह अध्यक्ष बनाया गया था। 

दिल्ली से लौटे वीरभद्र, बोले – हाईकमान के फैसले से हूं संतुष्ट 

नई दिल्ली में कांग्रेस के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष राहुल गांधी से मुलाकात कर सीएम वीरभद्र सिंह शनिवार को शिमला लौट आए। यहां पहुंचते ही सीएम ने अपनी टीम के खास लोगों से बैठक कर विधानसभा चुनाव की तैयारियों पर चर्चा की। इससे पूर्व दिल्ली में परिवहन मंत्री जीएस बाली और पंचायती राज मंत्री अनिल शर्मा ने भी सीएम से मुलाकात की। 

शनिवार शाम को जाखू में रावण दहन के बाद सीएम ने पत्रकारों से बातचीत की।  दिल्ली दौरे के बाद जिम्मेदारी बढ़ने के सवाल पर सीएम ने कहा – मैं हाईकमान से संतुष्ट हूं। जब उनसे पूछा गया कि क्या संगठन में खींचतान को लेकर हाईकमान से कोई बात हुई है तो सीएम बोले – अब संगठन में इस तरह की बातों पर विराम लग गया है। राहुल गांधी की रैली को लेकर सीएम ने कहा कि इसकी तैयारियां की जा रही हैं।

You May Also Like

English News