अभी-अभी: लखनऊ के आसिफ रिज़वी बन सकते हैं मुस्लिम वर्ग के युवा मंत्री

उत्तर प्रदेश में भारतीय जनता पार्टी की प्रचंड बहुमत से जीत होने के बाद जल्द ही सरकार का गठन होने वाला है। भाजपा के नेतृत्त्व द्वारा यह स्पष्ट किया गया है कि नई सरकार में अल्पसंख्यक और विशेष तौर पर मुस्लिम वर्ग का समुचित प्रतिनधित्व होगा, क्योंकि भाजपा सदैव ही “सबका साथ, सबका विकास” के सिद्धांत में विश्वास करती है।

अभी-अभी: लखनऊ के आसिफ रिज़वी बन सकते हैं मुस्लिम वर्ग के युवा मंत्री

अभी-अभी: भाजपा अध्यक्ष केशव प्रसाद मौर्य की तबियत बिगड़ी, आईसीयू में भर्ती

सूत्रों के अनुसार भाजपा में यह निर्णय लिया गया है कि चुने हुए विधायकों के अतिरिक्त अल्पसंख्यक वर्ग के अनिर्वाचित प्रतिनिधियों को मंत्रिमंडल में स्थान दिए जाने की प्रबल सम्भावना है। भाजपा के एक सूत्र ने बताया कि प्रदेश के शीर्ष नेताओं द्वारा मुस्लिम समाज के प्रबुद्ध लोगों के संपर्क किया जा रहा है और शीघ्र ही उनमे से सबसे प्रखर और विश्वसनीय व्यक्तियों को मंत्रिमंडल में लेने के प्रस्ताव पर विचार किया जायेगा।

ऐसे संकेत मिले हैं कि उत्तर प्रदेश में कई दशकों तक भाजपा के प्रमुख कार्यकर्ता और मंत्री रहे स्वर्गीय श्री एज़ाज़ रिज़वी के पुत्र आसिफ ज़मान रिज़वी को मुस्लिम वर्ग के युवा, प्रगतिशील, प्रबुद्ध और योग्य प्रतिनिधि के रूप में मंत्रिमंडल में स्थान दिए जाने की सम्भावना प्रबल है। आसिफ रिज़वी विगत 17 वर्षों से भी अधिक से भाजपा के सक्रिय सदस्य हैं और वर्तमान में भाजपा अल्पसंख्यक मोर्चा की प्रदेश कार्य समिति के सदस्य हैं। इसके पूर्व वे भाजपा अल्पसंख्यक मोर्चा के पूर्व महामंत्री भी रह चुके हैं।
लम्बे समय से राजनैतिक और सामाजिक गतिविधियों में उनका योगदान रहा है, और वर्ष 2017 के उ0 प्र0 विधानसभा के चुनावों में लखनऊ मध्य क्षेत्र के भा0ज0पा0 प्रत्याशी श्री सुरेश श्रीवास्तव के पक्ष में युवा वर्ग ख़ासकर मुस्लिम वर्ग में भा0ज0पा0 के प्रचार-प्रसार में उनकी सक्रिय भूमिका रही।

पूर्व के लोकसभा के चुनावों में श्रद्धेय श्री अटल बिहारी वाजपेयी जी के लोकसभा क्षेत्र लखनऊ में मुस्लिम व युवा वर्ग को भा0ज0पा0 से जोड़ने में सक्रिय भूमिका निभाते हुए पूरे लोकसभा क्षेत्र में प्रचार कार्य किया। इसके बाद भी 2014 के लोकसभा चुनाव में माननीय श्री राजनाथ सिंह जी के लोकसभा क्षेत्र लखनऊ में प्रचार कार्य किया तथा शिया एवं सुन्नी मुसलमानों को भा0ज0पा0 को वोट करने के लिए प्रोत्साहित किया। इसी प्रकार 2014 के उ0 प्र0 विधानसभा के उपचुनावों में तथा उ0 प्र0 विधानसभा 2012 के चुनावों में लखनऊ पूर्वी क्षेत्र के भा0ज0पा0 प्रत्याशी श्री आशुतोष टण्डन के पक्ष में युवा वर्ग ख़ासकर मुस्लिम वर्ग में भा0ज0पा0 के प्रचार-प्रसार में सक्रिय भूमिका निभाई।

आसिफ रिज़वी ने भाजपा सरकार द्वारा “सरकार किसान के द्वार” योजना में और “चलो गाँव की ओर” कार्यक्रम में भाग लिया। जन समस्याओं के समाधान हेतु मा. जन-प्रतिनिधियों तथा समस्या से सम्बन्धित अधिकारियों से सम्पर्क किया। पं. दीनदयाल उपाध्याय जी को अपना आदर्श मानते हुए आवश्यकतानुसार जन समस्याओं को उजागर करना एवम् उनके त्वरित निदान हेतु कार्यवाही करना सुनिश्चित किया।

“स्कूल चलो अभियान” के अन्तर्गत ग्रामीण क्षेत्रों में स्कूल जाने वाले बच्चों को स्कूल में प्रवेश दिलाना, तथा अशिक्षित प्रौढ़ समाज को शिक्षित करने हेतु समय-समय पर कैम्प लगवाना उनकी उपलब्धियों में शामिल है। आम जनता तथा स्कूली बच्चों को पर्यावरण के सम्बन्ध में जागरुक बनाने हेतु वर्षा के दौरान वृक्षारोपण तथा गोष्ठियों का आयोजन करवाया।

एज़ाज़ रिज़वी मेमोरियल सोसाइटी लखनऊ के तत्वाधान में गरीब बच्चों तथा विकलांगों को सुविधाएं उपलब्ध करने के अतिरिक्त, गरीबी-रेखा के नीचे जीवन-यापन करने वाले परिवारों के बच्चों को (मूलतः अल्पसंख्यक) कम्प्यूटर शिक्षा प्रदान कराई।
उन्होने कई संगोष्ठियों में भाग लिया है तथा वर्तमान में आसिफ खबर-इंडिया नेटवर्क डॉट कॉम के प्रबंध संपादक हैं, और एम.सी.के.एस. योग विद्या प्राणिक हीलर एसोसिएशन, उत्तर प्रदेश, परवाज़ फाउंडेशन, राष्ट्रीय एकता संगठन, डा. श्यामा प्रसाद मुखेर्जी जन कल्याण समिति उ.प्र. के सदस्य हैं। वे अंजुमन फलाहुल मुस्लिमीन उ.प्र. के सचिव होने के अलावा, एजाज़ रिज़वी मेमोरियल सोसाइटी, उ.प्र., जिब्रान सोसाइटी, लखनऊ, और एजुकेशनल एकेडमी, लखनऊ के महामंत्री भी हैं।

आसिफ के पास 22 वर्षों का कॉर्पोरेट जगत में कार्य अनुभव है, और वर्तमान में वे एजाज़ रिज़वी कॉलेज ऑफ़ जर्नलिज्म एंड मास कम्युनिकेशन, लखनऊ, के निदेशक हैं। उन्हें दिल्ली के टेक-वन इंस्टिट्यूट ऑफ़ मास कम्युनिकेशन और गीता रतन इंटरनेशनल बिज़नस स्कूल, लखनऊ विश्वविद्यालय और जयपुरिया इंस्टिट्यूट ऑफ़ मैनेजमेंट, लखनऊ, में अध्यापन करने का अनुभव भी है। वे सांस्कृतिक कार्यक्रमों, नाट्य कलाकार और टेलीविज़न के कार्यक्रमों में भी कई वर्षों से सक्रिय हैं।

You May Also Like

English News