अभी-अभी: लश्कर और हिजबुल को लगा बड़ा झटका, आतंकियों के मारे जाने से संगठन पड़ा कमजोर

दक्षिणी कश्मीर में एक साथ 13 आतंकियों के मारे जाने से आतंकी संगठन लश्कर और हिजबुल को तगड़ा झटका लगा है। आपरेशन आल आउट में 200 से अधिक आतंकियोंअभी-अभी: लश्कर और हिजबुल को लगा बड़ा झटका, आतंकियों के मारे जाने से संगठन पड़ा कमजोर

 

के मारे जाने के बाद अभी आतंकी संगठन उबर भी नहीं पाए थे कि एक साथ उनके 13 आतंकी ढेर कर दिए गए। 

डीजीपी डा. एसपी वैद ने भी कहा है कि हाल के दिनों में घाटी में सक्रिय आतंकी संगठनों के खिलाफ यह सबसे बड़ी कार्रवाई है। इससे इन दोनों संगठनों को तगड़ा झटका लगा है। 
दक्षिणी कश्मीर में हिजबुल मुजाहिदीन काफी सक्रिय रहा है। लश्कर ने अब इस संगठन से हाथ मिला लिया है। 

दोनों संगठन मिलकर अब आतंकी वारदातों को अंजाम दे रहे हैं। पिछले दिनों सुरक्षा एजेंसियों को इस बात के इनपुट भी मिले थे और कई घटनाओं में दोनों ही संगठनों के आतंकियों को साथ-साथ ढेर भी किया गया था। सूत्रों के अनुसार आपरेशन आल आउट के दौरान भी बशीर लश्करी समेत लश्कर के कई टाप कमांडर को मार गिराया था। 

कई हिजबुल कमांडरों को भी ढेर किया गया था। हिजबुल में ज्यादातर स्थानीय आतंकी ही सक्रिय हैं। ऐसे में माना जा रहा है कि अब इस आपरेशन के बाद आतंकी संगठनों में नई भर्ती पर फिलहाल रोक लग सकती है क्योंकि युवा मुठभेड़ का हश्र देखकर आतंक का दामन थामने से कतरा सकते हैं। हालांकि, ऐसी भी आशंका जताई जा रही है कि इस मुठभेड़ के बाद घाटी में आतंकी हमले तेज कर सकते हैं।  

बंद के मद्देनजर धारा 144 लागू
श्रीनगर। अलगाववादियों के बंद के आह्वान को देखते हुए श्रीनगर जिला प्रशासन ने सोमवार को सात थाना क्षेत्रों में धारा 144 लगा दी है। प्रशासन के अनुसार रैनावाड़ी, खान्यार,
नौहट्टा, सफाकदल, एमआर गुंज, मायसूमा तथा क्रालखुड इलाके में पाबंदियां रहेंगी।

ज्ञात हो कि गिलानी, मीरवाइज तथा यासीन मलिक के ज्वाइंट रेसीस्टेंट लीडरशिप ने दक्षिणी कश्मीर में मुठभेड़ में आतंकियों के मारे जाने के विरोध में बंद का आह्वान किया था।

You May Also Like

English News