अभी-अभी: लालू यादव ने दिया बड़ा बयान, कहा- भले ही फांसी पर चढ़ जाऊं, इस सरकार को हटा के लूंगा दम

आईआरसीटीसी घोटाले मामले में आठ घंटे की लंबी पूछताछ के बाद आरजेडी सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव ने सीबीआई दफ्तर के बाहर निकलकर केंद्र सरकार पर जमकर निशाना साधा. मोदी सरकार पर आरोप लगाते हुए लालू यादव ने कहा कि राजनीतिक साजिश के चलते उनके परिवार को परेशान करने के लिए यह मामला दर्ज करवाया गया है. लालू ने ललकार लगाते हुए कहा कि वह जेल जाने से नहीं डरते और इस सरकार को हटाने के लिए अगर फांसी पर भी चढ़ना पड़े तो वो पीछे नहीं हटेंगे.अभी-अभी: लालू यादव ने दिया बड़ा बयान, कहा- भले ही फांसी पर चढ़ जाऊं, इस सरकार को हटा के लूंगा दमअभी-अभी: आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत की कार का हुआ एक्सीडेंट…!

गुरुवार सुबह पूर्व रेल मंत्री लालू यादव जब सीबीआई के दफ्तर पहुंचे, तो उन्हें अंदाजा नहीं था कि आईआरसीटीसी होटेल घोटाले मामले में सीबीआई उनसे आठ घंटे तक पूछताछ करेगी. अपनी बेटी मिसा भारती के साथ सीबीआई ऑफिस पहुंचे लालू अलग कमरे में ले गई. उसके बाद संजीदगी के साथ उनसे सवाल पूछे गए और लालू के लिए यह बेहद मुश्किल भरा रहा.

जांच एजेंसी ने लालू से सवाल किए कि-

– किन शर्तों पर होटेल का MoU साइन किया गया था? इसके लिए नियमो का उल्लंघन क्यों और किसके कहने पर किया गया?

– जिन कोचर बंधुओं को होटल दिया गया, उन्हें आप कैसे जानते है?

– सरकारी कीमत से भी काम दाम में यह डील क्यों की गई? और इसका फायदा किस को कितना पहुंचा और कैसे? 

– डिलाइट कंपनी द्वारा हुए जमीन डील के बारे में आप के पास क्या जानकारी है ?

– आपके बेटे  तेजस्वी यादव और आपकी पत्नी  राबड़ी देवी को भी सम्पति दी गई. क्या आप बता सकते है ऐसा क्यों हुआ?

इस दौरान लालू से कई ऐसे सवाल भी पूछे गए, जिनके जवाब देने में लालू को दिक्कत हुई. सूत्रों के अनुसार सीबीआई ने पूछताछके दौरान उन सबूत और बयानों को भी पेश किया, जिनके आधार पर लालू को आरोपी बनाया गया था. उसके बाद लालू से लंबी पूछताछ चलती रही और उसके बाद लालू अपने चीर परिचित अंदाज में इस मामले को केंद्र सरकार की साजिश बताया.

लालू यादव ने कहा कि यह सब नीतीश कुमार बीजेपी आरएसएस और सरकार के निशाने पर हो रहा है. सीबीआई ने पूछताछ के दौरान काफी सही बर्ताव किया, लेकिन सीबीआई के लोग मजबूर हैं. उन्होंने कहा कि सीबीआई अफसरों पर केंद्र सरकार,आरएसएस का दबाव है, वह लोग दबाव में काम कर रहे हैं, मजबूरी में काम कर रहे हैं.

You May Also Like

English News