अभी-अभी: सहवाग ने किया बड़ा खुलासा, कहा- BCCI में सेटिंग होती तो बन जाता टीम इंडिया का कोच

भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व ओपनर और धुरंधर बल्लेबाज वीरेंद्र सहवाग ने खुलासा किया है कि उन्होंने कप्तान विराट कोहली से बात करके और उनके कहने पर ही टीम इंडिया के कोच पद के लिए आवेदन किया था।अभी-अभी: सहवाग ने किया बड़ा खुलासा, कहा- BCCI में सेटिंग होती तो बन जाता टीम इंडिया का कोचअभी-अभी: राम जन्मभूमि मामले के पक्षकार रहे निर्मोही अखाड़े के महंत का हुआ निधन….

उन्होंने साथ ही कहा कि उनकी कोई सेटिंग नहीं थी, इसलिए वे कोच नहीं बन पाए और अब कभी इस पद के लिए आवेदन नहीं करेंगे। सहवाग टीम इंडिया के कोच पद की रेस में कप्तान कोहली की पसंद रवि शास्त्री से पिछड़ गए थे, जो अब भारतीय टीम के मुख्य कोच हैं। 

 
हालांकि कोच चुनने का फैसला सर्वसम्मति से नहीं लिया गया था। क्रिकेट सलाहकार समिति (सीएसी) के एक सदस्य सौरव गांगुली शास्त्री को चुने जाने के खिलाफ थे, जबकि सचिन तेंदुलकर और वीवीएस लक्ष्मण ने रवि के पक्ष में अपनी सहमति दी थी। 

सहवाग ने एक टीवी कार्यक्रम के चैट शो में कहा, देखिए, मैं कोच इसलिए नहीं बन पाया क्योंकि जिन लोगों के पास कोच चुनने का अधिकार था, उनसे मेरी कोई सेटिंग नहीं थी। वीरू बोले, मैंने कभी भारतीय क्रिकेट टीम का कोच बनने के बारे में नहीं सोचा था।

 
मगर, बीसीसीआई के कार्यकारी सचिव अमिताभ चौधरी और जीएम (गेम डेवलपमेंट) एमवी श्रीधर मेरे पास आए और मुझसे इस बारे में सोचने के लिए कहा। मैंने काफी सोचा। यहां तक कि कप्तान विराट से भी बात की।
उन्होंने मुझसे कहा कि आपको इस पर आगे बढ़ना चाहिए, इसी के बाद मैंने आवेदन किया। अगर आप मुझसे पूछें तो मैं यही कहूंगा कि मैं कभी इसके लिए इच्छुक नहीं था। मगर तब मैंने सोचा कि सभी मुझसे आग्रह कर रहे हैं तो मुझे उनकी मदद करनी चाहिए। मैं तब भी अपनी इच्छा से इस पद के लिए आवेदन नहीं करना चाहता था और भविष्य में भी कभी आवेदन नहीं करूंगा। 

शास्त्री ने पहले कहा था-मैं आवेदन नहीं करूंगा…

सहवाग बोले, जब मैं चैंपियंस ट्रॉफी के दौरान इंग्लैंड में था, तब मैंने रवि शास्त्री से पूछा था कि आपने कोच पद के लिए आवेदन क्यों नहीं किया। उन्होंने कहा, वो इसलिए क्योंकि मैं पुरानी गलतियां दोहराना नहीं चाहता। अगर रवि ने तब आवेदन दे दिया होता तो मुझे नहीं लगता कि मेरे लिए कोई मौका होता। फिर मैं आवेदन ही नहीं करता।

loading...

You May Also Like

English News