अभी-अभी: स्मृति ईरानी की अचानक तबीयत हुई खराब, रैली में नहीं आ सकीं…

केंद्रीय सूचना एवं प्रसारण मंत्री स्मृति ईरानी मंगलवार को तबीयत खराब होने की वजह से उपमंडल भोरंज में नहीं पहुंच पाईं। उपमंडल भोरंज के भरेड़ी कस्बा में स्मृति ईरानी की चुनावी जनसभा मंगलवार दोपहर दो बजे होनी थी। उन्होंने मोबाइल से ही जनसभा को संबोधित किया। अभी-अभी: स्मृति ईरानी की अचानक तबीयत हुई खराब, रैली में नहीं आ सकीं...बड़ी खुशखबरी: Paytm ने शुरू की भीम UPI सेवा, ऐसे उठाएं फायदा

उन्होंने कहा कि वह भोरंज में न आ पाने के लिए कार्यकर्ताओं एवं लोगों से माफी मांगतीं हैं। उनकी तबीयत खराब हो गई है। जिस कारण वह नहीं आ सकीं। जिला भाजपा महामंत्री अशोक ठाकुर ने कहा कि स्मृति ईरानी की तबीयत खराब होने के कारण वह जनसभा में उपस्थित नहीं हो सकीं।

वीरों की भूमि में आतंक का माहौल : ईरानी 

केंद्रीय कपड़ा मंत्री स्मृति ईरानी ने कहा कि वीरों की भूमि में आतंक का माहौल रहना सामाजिक और राजनीतिक तौर पर चिंता का विषय है। मंगलवार को डाडासीबा में चुनावी जनसभा में उन्होंने कहा कि कांगड़ा के इतिहास के पन्ने खोलकर देखें तो पहली गाथा प्रथम परमवीर चक्र विजेता मेजर सोमनाथ की होगी। 

प्रदेश और जसवां परागपुर के कई परिवार साल भर देश की सरहद पर तैनात रहते हैं। ये सैनिक इसलिए अपने प्राणों को न्योछावर करते हैं ताकि हमारा देश सुरक्षित रहे, लेकिन इसी धरती पर कांग्रेस के युवराज राहुल गांधी आते हैं जो दिल्ली में भारत के खिलाफ नारे लगाने वालों का कंधे से कंधा मिलाकर साथ देते हैं। 

राहुल उस सैनिक के परिवार का साथ नहीं देते जिसने देश की रक्षा करते हुए अपने प्राणों की आहुति दी। ईरानी ने कहा कि देश के जितने भी अहम मुद्दे हैं, उनके साथ छेड़छाड़ करना कांग्रेस के लिए कोई नई बात नहीं हैं।

कांग्रेस नेता और पूर्व वित्त मंत्री पी. चिदंबरम कहते हैं कि कश्मीर को हम आजादी की दृष्टि से देखें। जो अपनी राजनीति के लिए भारत के टुकड़े करने का विचार रखते हैं, क्या वो हमारे हो सकते हैं।

कांग्रेस पूछे गए सवालों का जवाब तो नहीं देना चाहती बल्कि केंद्र सरकार की ऐतिहासिक नीतियों का विरोध करना ही जानती है। उन्होंने प्रदेश के मुख्यमंत्री पर भी भ्रष्टाचार को लेकर कई सवाल उठाए।

देवभूमि को कलंकित करने वाले होंगे सत्ता से बाहर : ईरानी 

केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने मंगलवार को जसवां परागपुर विधानसभा क्षेत्र के डाडासीबा में चुनावी जनसभा में कहा कि देवभूमि हिमाचल के चप्पे-चप्पे में आतंक का माहौल है। कांग्रेस सरकार ने शांत प्रदेश का माहौल बिगाड़ कर रख दिया है।

गुड़िया प्रकरण से देवभूमि शर्मसार हुई है। उन्होंने भाजपा प्रत्याशी विक्रम ठाकुर के पक्ष में चुनाव प्रचार करते हुए कहा कि प्रदेश में भाजपा की सरकार बनना तय है। कांग्रेस का पूरा शीर्ष नेतृत्व मैदान छोड़ कर भाग गया है। देवभूमि को कलंकित करने वालों को प्रदेश की जनता सता से बाहर करने जा रही है।

भाजपा की जीत देख राहुल की ताजपोशी रुकी
स्मृति ईरानी ने कहा कि हिमाचल और गुजरात में भाजपा की सरकार बनने जा रही है और सर्वे रिपोर्ट आने के बाद कांग्रेस ने अब राहुल गांधी को अध्यक्ष बनाने से इनकार कर दिया है।

You May Also Like

English News