अभी-अभी: 24 साल बाद मुंबई हमलों को फिर से दोहराने की साजिश रच रहा दाऊद इब्राहिम

1993 मुंबई बम धमाकों का मास्टरमाइंड दाऊद इब्राहिम 24 साल बाद वैसे ही हमलों को दोहराने की साजिश में लगा है। मुंबई पुलिस ने पाकिस्तान में रह रहे दाऊद के भाई और भारत में उसके गुर्गे की बातचीत को इंटरसेप्ट किया है। दाऊद के इस ब्लैक फ्राइडे प्लॉट के बारे में केन्द्र सरकार को भी सूचित कर दिया गया है। 

दाऊद के इन इरादों से साफ जाहिर होता है कि भारत के सबसे प्रभावशाली और शक्तिशाली जगहों पर उसके अपने लोग मौजूद हैं। ऐसे में दाऊद के इन करीबियों को पकड़ने के लिए पुलिस और केन्द्रीय एजेंसियों की चुनौती काफी बढ़ जाती है। हमारे सहयोगी चैनल टाइम्स नाऊ की रिपोर्ट में यह खुलासा किया गया है। 

रिपोर्ट के मुताबिक भगोड़े डॉन दाऊद इब्राहिम और उसकी कंपनी के कुछ लोग अब भी भारत में बैठकर उसके मंसूबों को अमलीजामा पहनाने की साजिश में लगे हैं। ऐसे में मुंबई पुलिस द्वारा दाऊद इब्राहिम के पाकिस्तान में मौजूद भाई और भारत में उसके लोगों के बीच हाल के समय में की गई बातचीत को इंटरसेप्ट करने को एक बड़ी साजिश का पर्दाफाश माना जा रहा है। बताया जा रहा है कि इस बातचीत में मुंबई पुलिस को कई अहम जानकारियां मिली हैं। 

रिपोर्ट के मुताबिक दाऊद और उसके गुर्गे मुंबई हमले जैसी किसी बड़ी साजिश की तैयारी कर रहे हैं। अब पुलिस और केन्द्रीय एजेंसियां उन लोगों की तलाश कर रही हैं जो भारत में रहकर दाऊद के नापाक मंसूबे को कामयाब करने की कोशिश कर रहे हैं। गौरतलब है कि कुछ दिन पहले ही अंडरवर्ल्ड डॉन दाऊद इब्राहिम के छोटे भाई इकबाल कासकर को ठाणे पुलिस ने गिरफ्तार किया था। इकबाल को जबरन उगाही और धमकी देने के आरोप में गिरफ्तार किया गया है। उसे मुंबई में मौजूद उसके घर से अरेस्ट किया गया है। 

इकबाल के अलावा चार और लोगों को गिरफ्तार किया गया है। बताया गया था कि इकबाल कासकर ने एक बिल्डर को फोन पर धमकी देकर उससे उगाही की कोशिश की थी। बिल्डर से पहले ही चार फ्लैट ले चुका इकबाल उससे और रुपयों की मांग कर रहा था। इकबाल कासकर को 13 अक्टूबर तक न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया है। वहीं कासकर के दो अन्य साथियों को भी इसी अवधि के लिए न्यायिक हिरासत में भेजा गया है। अदालत ने इस मामले में चौथे आरोपी पंकज गांगर की पुलिस कस्टडी को भी बढ़ा दिया है। 

You May Also Like

English News