अभी-अभी: CM योगी ने दिया बड़ा बयान, कहा- गोरखपुर मामले में दोषियों को बचाया नहीं, निपटाया

गोरखपुर और फर्रुखाबाद के अस्पतालों में बच्चों की मौत पर मुख्यमंत्री ने कहा कि किसी भी बच्चे की मौत ऑक्सीजन की कमी से नहीं हुई, बल्कि लापरवाही के कारण हुई थी। इस घटना में शामिल किसी भी डॉक्टर को बचाया नहीं गया, बल्कि उन्हें लापरवाही और भ्रष्टाचार में लिप्त होने के कारण निपटाया गया।  अभी-अभी: CM योगी ने दिया बड़ा बयान, कहा- गोरखपुर मामले में दोषियों को बचाया नहीं, निपटायाअभी-अभी: योगी सरकार ने मदरसों को दिया तगड़ा झटका, अनुदान राशि पर लगाई रोक…

इतिहास के पाठ्यक्रम में मिले महापुरुषों को स्थान
डिप्टी सीएम दिनेश शर्मा द्वारा महाराणा प्रताप के शौर्य को इतिहास के पाठ्यक्रम में शामिल किए जाने संबंधी बयान को जायज ठहराते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि देश की जनता को भगवान राम व श्रीकृष्ण की परंपरा से प्रेरणा मिलती है। इसलिए महाराणा प्रताप, गुरु गोविंद सिंह समेत अन्य महापुरुषों की गाथा बच्चों को पढ़ाई जानी चाहिए।  
 
निजी स्कूलों की मनमानी नहीं चलेगी
प्राइवेट स्कूलों में मनमानी फीस वसूले जाने के बारे में पूछे जाने पर सीएम ने कहा कि सरकार ने फीस रेगुलराइज करने के लिए समिति बना दी है। इससे आम लोगों को काफी राहत मिलेगी। 

हिंदुत्व सांप्रदायिक नहीं, भारतीयता का प्रतीक
योगी ने कहा कि हिंदुत्व सांप्रदायिक नहीं है, बल्कि भारतीयता का प्रतीक है। पीएम नरेंद्र मोदी के बहादुर शाह जफर की मजार पर जाने के बारे में उन्होंने कहा कि किसी भी उपासना स्थल पर जाना गलत नहीं है।  

कांग्रेस व सपा में है उत्तराधिकार की परंपरा
प्रधानमंत्री मोदी के उत्तराधिकारी के तौर पर अपनी दावेदारी को खारिज करते हुए योगी ने कहा कि भाजपा में यह परंपरा नहीं है। कांग्रेस या सपा में ही वंशावली के आधार पर नेता चुना जाता है। एक सवाल के जवाब में योगी ने कहा कि अगर पार्टी कहेगी तो वह गुजरात के साथ ही पश्चिम बंगाल में भी चुनाव प्रचार करने जाएंगे।  

दुर्गापूजा व मोहर्रम पर कानून से खिलवाड़ बर्दाश्त नहीं
योगी ने कहा कि यूपी में मोहर्रम और दुर्गापूजा के दौरान किसी को कानून से खिलवाड़ करने की इजाजत नहीं दी जाएगी। पश्चिम बंगाल में दुर्गा प्रतिमा का विसर्जन रोकने के आदेश को गलत बताते हुए उन्होंने कहा कि ऐसा ही रहा तो ममता बनर्जी को अगले चुनाव में घर ही बैठना पड़ेगा।
 
अपनी सरकार को दिए 100 में 1000 अंक
अपने पांच महीने के कार्यकाल को अंक देने के सवाल पर मुख्यमंत्री योगी ने कहा कि वे तो 1000 अंक देते हैं, क्योंकि हर क्षेत्र में काम शुरू किया है। सफाई अभियान पर बोले, हमारी सरकार सफाई के लिए ही बनी है। कई तरह से सफाई कर रहे हैं। भ्रष्टाचार और अपराध के क्षेत्र में सफाई की है। 
loading...

You May Also Like

English News