अभी-अभी: RSS ने दिया बड़ा बयान, कहा- हिन्दुत्व नहीं राष्ट्रीयता के चेहरे हैं योगी आदित्यनाथ

हिन्दुत्व के चेहरे के रूप में यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को देश के विभिन्न हिस्सों में घुमाए जाने के मामले का बचाव करते हुए संघ ने कहा है कि योगी हिन्दुत्व का नहीं बल्कि राष्ट्रीयता के चेहरे हैं। संघ के सरकार्यवाह सुरेश जोशी उर्फ भैय्या जी ने कहा है कि योगी हिन्दुत्व नहीं राष्ट्रीयता के चेहरा हैं। संघ की अखिल भारतीय कार्यकारी मंडल की बैठक के बाद आयोजित पत्रकार वार्ता में मीडिया के सवालों के जवाब में जोशी ने यह बात कही। दरअसल भैय्या जी जोशी से यह सवाल पूछा गया था कि योगी को गुजरात के चुनावी रण से लेकर केरल, बिहार और पश्चिम बंगाल तक घुमाया जा रहा है, क्या ये संघ की हिन्दुत्व के एजेंडे को आगे बढ़ाने के क्रम में हो रहा है? इस सवाल का जवाब देते हुए भैय्या जी जोशी ने कहा कि योगी हिन्दुत्व का नहीं राष्ट्रीयता का चेहरा हैं।अभी-अभी: RSS ने दिया बड़ा बयान, कहा- हिन्दुत्व नहीं राष्ट्रीयता के चेहरे हैं योगी आदित्यनाथजानिए जेल से र‌िहा होकर कहां जाएंगे आरुष‌ि के मम्मी-पापा, नाना ने किया बड़ा खुलासा…

पटाखों पर संतुलित नीति की वकालत
सर्वोच्च नयायालय के जरिए दीपावली के दिन दिल्ली में पटाखों पर लगी रोक पर संघ ने कहा है कि पटाखों के लिए एक संतुलित नीति होनी चाहिए। संघ सरकार्यवाह भैय्या जी जोशी ने कहा है कि पर्यावरण की रक्षा होनी चाहिए मगर रोक उन्हीं पटाखों पर लगनी चाहिए जो कि प्रदूषण फैलाते हैं। उन्होंने कहा कि सभी पटाखें प्रदूषण फैलाने वाले नही होते। अगर आगे लोग यह कहेंगे कि दीए जलाने से प्रदुषण होगा तो फिर क्या करेंगे।

धर्मांतरण पर सख्त 
धर्मांतरण पर सख्त रवैया अपनाते हुए संघ ने कहा है कि सरकार को भी इसे रोकना चाहिए। भैय्या जोशी ने कहा कि मर्जी से धर्मांतरण करने वालों पर हमें कोई आपत्ती नहीं है। लेकिन लोग अगर किसी लालच से धर्मांतरण करते हैं तो हम रोकेंगे और सरकार को भी रोकना चाहिए। 

शरणार्थी नहीं षडयंत्र के रूप में आ रहे हैं रोहिंग्या 

रोहिंग्या के मामले पर संघ का कहना है कि रोहिंग्या शरणार्थी के रूप में नहीं बल्कि षडयंत्र के रूप में भारत आ रहे हैं। संघ सरकार्यवाह ने कहा है कि रोहिंग्या एक गंभीर विषय है। भारत में इनके आने के मामले को षडयंत्र करार देते हुए भैय्याजी जोशी ने कहा है कि ये आकर महज जम्मू-कश्मीर और हैदराबाद में ही क्यों बसते हैं। जोशी ने कहा कि सोचना होगा कि उन्हें म्यांमार से निष्काषित क्यों किया जा रहा है। कोई भी देश यूं ही अपने नागरिकों को देश निकाला नहीं देता है। भारत की परंपरा है कि किसी को ठुकराया नहीं जाता, सबको आश्रय दिया जाता है। लेकिन बाहरी नागरिक को तय समय तक ही रहने देना चाहिए। रोहिंग्या देश की सुरक्षा के लिए खतरा बन सकते हैं। उनके आने से अशांति फैल सकती है। रोहिंग्या के पक्ष में आवाज बुलंद कर रहे लोगों के मामले पर संघ ने कहा है कि ऐसे लोगों की मंशा की जांच होनी चाहिए। 

किसानों से जैविक खेती अपनाने का आह्वान 
कृषि की बदहाली पर चिंता जताते हुए संघ ने जहां एक ओर सरकार से कहा है कि किसानों के सुझाव के अनुरूप खेती की योजना और नीति बननी चाहिए। तो दूसरी ओर उसने किसानों से भी आग्रह किया है कि वे जैविक खेती को बढ़ावा दें। संघ ने भारत की पुरानी परिवार व्यवस्था को बढ़ावा देने का आह्वान भी किया है। भैय्या जोशी ने कहा कि कुटुम्ब प्रबोधन कार्यक्रम के तहत संघ वर्तमान में 20 लाख परिवारों तक पहुंचा हैं, परिवार व्यवस्था को लेकर बैठक में विचार हुआ।

अमित शाह के बेटे जय शाह पर बोले जोशी
भाजपा अध्यक्ष अमित शाह के पुत्र जय शाह पर लग रहे आरोपों पर भैय्याजी जोशी ने कहा है कि अगर आरोपों में दम है और सबूत हैं तो आरोप लगाने वालों के लिए कई व्यवस्थायें हैं जिसके लिए उन्हें न्यायालय जाना चाहिए। यदि आरोपों में दम नहीं तो अर्नगल आरोप नहीं लगाए जाने चाहिए। दरअसल अमित शाह के बेटे जय पर आरोप है कि उनकी कंपनी का मुनाफा बीते तीन वर्षों में 16 हजार गुना बढ़ा है। लेकिन भाजपा समेत जय शाह ने इसमें किसी अनियमितता से इंकार किया है। 

You May Also Like

English News