अभी-अभी: SBI के ग्राहकों के लिए आई बड़ी खबर, मिन‍िमम बैलेंस चार्ज 75% तक घटा

भारतीय स्टेट बैंक (SBI) ने अपने ग्राहकों को एक बड़ा तोहफा दिया है. एसबीआई ने उन लोगों को बड़ी राहत दी है, जो अपने बचत खाते में मिनिमम बैलेंस बनाए रखने में सक्षम नहीं होते.अभी-अभी: SBI के ग्राहकों के लिए आई बड़ी खबर, मिन‍िमम बैलेंस चार्ज 75% तक घटा

एसबीआई ने खाते में मिनिमम बैलेंस न रखने पर लगने वाले चार्ज को 75 फीसदी तक घटा दिया है. इस कटौती के बाद आपको पहले के मुकाबले काफी कम चार्ज देना होगा.

हालांकि यह कटौती 1 अप्रैल से लागू होगी. आगे जानिए इस नई कटौती के लागू होने के बाद आपको मिनिमम बैलेंस न बनाए रखने पर कितना चार्ज देना होगा.

मौजूदा समय में आपको मेट्रो शहरों में 3 हजार रुपये का मिनिमम बैलेंस अपने खाते में बनाए रखना पड़ता है. अर्द्ध शहरी शाखाओं की बात करें, तो यहां आपको 2 हजार रुपये की रकम बनाए रखनी पड़ती है.

वहीं, ग्रामीण क्षेत्रों की बात करें तो यहां आपको एक हजार रुपये मिनिमम बैलेंस के तौर पर अपने खाते में बनाए रखना होता है. आगे जानिए इस बैलेंस को न बनाए रखने पर आपको नई दरों के हिसाब से कितना चार्ज देना होगा.

मेट्रो शहरों में अगर आप 50 फीसदी से कम मिनिमम बैलेंस बनाए रखते हैं, तो मौजूदा समय में आपको 30 रुपये प्लस जीएसटी देना होता है. इसके हिसाब से आपको 30 रुपये प्लस 5.4 रुपये के जीएसटी के तौर पर देने होंगे.

नई दरों के लागू होने पर: 1 अप्रैल से जैसे ही नई दरें लागू होंगी आपको 75 फीसदी तक कम चार्ज देना होगा. इस तरह आपको 22.5 रुपये प्लस जीएसटी चुकाना होगा. ऐसे में आपका पूरा चार्ज जो बनेगा, वह 4.05 रुपये का जीएसटी मिलाकर 26.55 रुपये हो जाएगा. यही स्थ‍िति अर्द्ध शहरी और ग्रामीण भागों की शाखाओं में भी होगी.

इससे पहले एसबीआई ने मिनिमम बैलेंस की सीमा मेट्रो शहरों के लिए 5 हजार से घटाकर 3 हजार रुपये कर दिया था. इसके साथ ही अर्द्ध शहरी शाखाओं के ग्राहकों के लिए यह सीमा 2 हजार रुपये कर दी गई थी.

इसके साथ ही मेट्रो और अर्बन सेंटर्स कैटेगरी में मिनिमम बैलेंस न रखने पर लगने वाले चार्ज भी 20-50 फीसदी तक कम कर दिए.  बता दें कि मिनिमम बैलेंस को लेकर लगने वाले चार्ज खतो में रखी गई रकम के हिसाब से लगते हैं. चार्जस की पूरी जानकारी के लिए आप यहां क्ल‍िक कर सकते हैं.

You May Also Like

English News