अमरिका ने किया सीरिया पर मिसाइल से हमला

चेतावनी के बाद अमरिका के राष्ट्रपति डोनल्ड ट्रंप ने सीरिया में सैन्य कार्रवाई का आदेश जारी कर दिया है. ये सैन्य कार्रवाई उन जगहों पर किए जाएंगे जहां पिछले हफ्ते केमिकल अटैक हुए थे. डोनल्ड ट्रंप के मुताबिक इस सैन्य कार्रवाई में ब्रिटेन और फ्रांस भी अमेरिका का साथ दे रहा है. देश को संबोधित करते हुए राष्ट्रपति डोनल्ड ट्रंप ने कहा “फ्रांस और ब्रिटेन के साथ मिलकर एक संयुक्त अभियान शुरू कर दिया गया है.” सीरियाई राजधानी दमास्कस के पास  से विस्फोटों की खबरें मिल रही है.चेतावनी के बाद अमरिका के राष्ट्रपति डोनल्ड ट्रंप ने सीरिया में सैन्य कार्रवाई का आदेश जारी कर दिया है. ये सैन्य कार्रवाई उन जगहों पर किए जाएंगे जहां पिछले हफ्ते केमिकल अटैक हुए थे. डोनल्ड ट्रंप के मुताबिक इस सैन्य कार्रवाई में ब्रिटेन और फ्रांस भी अमेरिका का साथ दे रहा है. देश को संबोधित करते हुए राष्ट्रपति डोनल्ड ट्रंप ने कहा "फ्रांस और ब्रिटेन के साथ मिलकर एक संयुक्त अभियान शुरू कर दिया गया है.'' सीरियाई राजधानी दमास्कस के पास  से विस्फोटों की खबरें मिल रही है.  इस बीच संयुक्त राष्ट्र के लिए रूसी दूत वसिली नेबेन्ज़िया ने चेतावनी दी है कि अमेरिका के सीरिया पर हमले करने से रूस और अमेरीका के बीच युद्ध के हालात बन सकते हैं. उन्होंने कहा कि वो किसी भी तरह की संभावना से इनकार नहीं करते. बता दें कि विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) के मुताबिक, सीरिया के पूर्वी गूटा में हुए हमले में घायल हुए मरीज़ों में केमिकल अटैक के लक्षण पाए गए हैं. डब्ल्यूएचओ ने सीरिया के डूमा इलाके में बिना किसी अड़चन के प्रवेश दिए जाने की मांग की है.  डब्ल्यूएचओ के अधिकारी इलाके में मौजूद अपने सहयोगियों से मिली इस रिपोर्ट की पुष्टि करना चाहते हैं, जिसमें कहा गया है कि 500 से अधिक लोगों में केमिकल अटैक के लक्षण पाए गए हैं. ट्रैम्प ने इसी सप्ताह चेतावनी जारी करते हुए हमले को लेकर रूस को आगाह किया था.

इस बीच संयुक्त राष्ट्र के लिए रूसी दूत वसिली नेबेन्ज़िया ने चेतावनी दी है कि अमेरिका के सीरिया पर हमले करने से रूस और अमेरीका के बीच युद्ध के हालात बन सकते हैं. उन्होंने कहा कि वो किसी भी तरह की संभावना से इनकार नहीं करते. बता दें कि विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) के मुताबिक, सीरिया के पूर्वी गूटा में हुए हमले में घायल हुए मरीज़ों में केमिकल अटैक के लक्षण पाए गए हैं. डब्ल्यूएचओ ने सीरिया के डूमा इलाके में बिना किसी अड़चन के प्रवेश दिए जाने की मांग की है.

डब्ल्यूएचओ के अधिकारी इलाके में मौजूद अपने सहयोगियों से मिली इस रिपोर्ट की पुष्टि करना चाहते हैं, जिसमें कहा गया है कि 500 से अधिक लोगों में केमिकल अटैक के लक्षण पाए गए हैं. ट्रैम्प ने इसी सप्ताह चेतावनी जारी करते हुए हमले को लेकर रूस को आगाह किया था. 

You May Also Like

English News